Begin typing your search...

अब जेल से लिखा राम रहीम ने ये खत, और रखी ये डिमांड

डेरे का प्रमुख. रेप और हत्या के मामलों में सुनारिया जेल में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम ने जेल से अपनी मां और डेरा के श्रद्धालुओं को ये चिट्ठी लिखी है.

अब जेल से लिखा राम रहीम ने ये खत, और रखी ये डिमांड
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने रोहतक की सुनारिया जेल से खत लिखा है. राम रहीम ने कहा, हमेशा मैं ही रहूंगा डेरे का प्रमुख. रेप और हत्या के मामलों में सुनारिया जेल में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम ने जेल से अपनी मां और डेरा के श्रद्धालुओं को ये चिट्ठी लिखी है. अपने खत में उसने साफ कर दिया है कि वो ही हमेशा डेरे का गुरु रहने वाला है और डेरे का मैनेजमेंट और उसका परिवार सिर्फ कामकाज संभालने के लिए ही काम करेगा.

अपने खत के आखिरी पंक्ति में राम रहीम ने लिखा है कि हम ताउम्र अपने श्रद्धालुओं का ख्याल एक गुरु की तरह करते रहेंगे. जिस तरह से चिट्ठी में बार-बार गुरमीत राम रहीम ने अपने परिवार के लोगों का नाम लेकर और डेरे के अनुयायियों से गुटबाजी न करने की बात की है और अंत में ये साफ कर दिया है कि वो ताउम्र बतौर डेरे का गुरु होने के नाते अपने श्रद्धालुओं का ख्याल रखेगा उससे साफ है कि ये चिट्ठी गुरमीत राम रहीम ने अपने श्रद्धालुओं, अपने परिवार के लोगों और मैनेजमेंट और ट्रस्ट से जुड़े लोगों को यही बात साफ करने के लिए ही लिखी है.

गुरमीत राम रहीम रोहतक की जेल में 25 अगस्त 2017 से बंद है. सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम को दुष्कर्म मामले में 20 साल की सजा सुनाई थी. इसके बाद उसे पत्रकार हत्या के मामले में भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी.

हालांकि, राम रहीम जेल से बाहर आने की कोशिश करता रहता है. वह परोल की अर्जी भी लगा चुका है, लेकिन हरियाणा सरकार ने उसकी इस अर्जी को खारिज कर दिया था. अब तक तीन बार उसकी परोल की अर्जी खारिज हो चुकी है. आखिरी उसने अपनी मां की बीमारी का हवाला देकर परोल मांगी थी. साथ ही इमरजेंसी परोल मांगी थी.





Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it