Top
Begin typing your search...

सरकारी नौकरी की आड़ में दहेज मांगने वालों को रोहतक के इस लाडले ने जड़ा तमाचा, जिसकी हर कोई कर रहा है तारीफ

सरकारी नौकरी की आड़ में दहेज मांगने वालों को रोहतक के इस लाडले ने जड़ा तमाचा, जिसकी हर कोई कर रहा है तारीफ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रोहतक: एक तरफ महेन्द्रगढ़ जिलें के सब इंस्पेक्टर ने दहेज में CRETA गाड़ी की डिमांड कर समाज की बुराई लेने का काम किया वहीं दूसरी तरफ हरियाणा रोड़वेज विभाग में क्लर्क के पद पर कार्यरत रोहतक के लाडले ने ऐसा काम किया है कि उसकी प्रशंसा करते हर कोई थक नहीं रहा है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल के गांव निदांणा के इस किसान पुत्र ने इस संदेश के जरिए समाज के लिए एक मिसाल पेश की है.

संजीत पुत्र करमबीर सिंह ने बिना किसी दान-दहेज के शादी कर समाज को आईना दिखाने का काम किया है. सब इंस्पेक्टर का रौब जमाते हुए जहां उस लड़के ने दुल्हन बनने वाली लड़की के अरमानों पर पानी फेर दिया, वहीं संजीत अपनी पत्नी को बुलेट मोटरसाइकिल पर बैठाकर अपने घर लाया. इस पूरे वाक़िए की वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है और हर कोई इस काम की तारीफ कर रहा है.

संजीत नेहरा ने बुलेट मोटरसाइकिल की डोली बनाकर अपने सपनों की रानी को मंडप से घर लाने का शानदार कार्य किया तो वहीं पीछे सीट पर बैठी नई नवेली दुल्हन भी मंद- मंद मुस्कुरा रही थी. बुलेट मोटरसाइकिल पर अपनी दुल्हन पूजा को घर लाने वाले संजीत ने कहा कि वह युवाओं को संदेश देना चाहते हैं कि उन्हें दुल्हन के रूप में सात पीढ़ियों का मान सम्मान रखने वाले जीवन संगिनी मिलती है, फिर दहेज की बलिवेदी पर हम किसी के सपनों को क्यों तार-तार करें.

इसलिए मैं सभी युवाओं से आग्रह करता हूं कि दान दहेज को दरकिनार करते हुए शालीनता से शादी करें. वहीं अन्‍य चीजों पर भी ज्‍यादा खर्च न करें. संजीत नेहरा के इस काम की चौतरफा प्रशंसा की जा रही है और समाज उम्मीद भी कर रहा है कि बदलाव की इस मुहिम से समाज में फैली दहेज प्रथा को समाप्त करने के अभियान को मजबूती मिलेगी.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it