Top
Begin typing your search...

पीएम मोदी नौ राजकीय मेडिकल कालेजों का करेंगे लोकार्पण, मीरजापुर, गाजीपुर और प्रतापगंढ़ के नाम हुए फाइनल

सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य में 2017 के पहले मात्र 12 मेडिकल कॉलेज ही हुआ करते थे।

पीएम मोदी नौ राजकीय मेडिकल कालेजों का करेंगे लोकार्पण, मीरजापुर, गाजीपुर और प्रतापगंढ़ के नाम हुए फाइनल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आगामी 30 जुलाई को प्रदेश के नौ जिलों देवरिया, एटा, फतेहपुर, हरदोई, प्रतापगढ़, सिद्धार्थ नगर, गाजीपुर, मीरजापुर और जौनपुर में नवस्थापित मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण किया जाना प्रस्तावित है. उनमें से तीन के नाम तय कर लिए गए हैं। मीरजापुर के मेडिकल कॉलेज का नाम मां विंध्यवासिनी के नाम पर होगा। गाजीपुर के मेडिकल कॉलेज को महर्षि विश्वामित्र के नाम से और प्रतापगढ़ के मेडिकल कॉलेज को स्व. डॉ. सोनेलाल पटेल के नाम से जाना जाएगा।

चिकित्सा शिक्षा विभाग से से मिली जानकारी के अनुसार मीरजापुर में विंध्यवासिनी मंदिर है। यह गंगा नदी के किनारे स्थित शक्तिस्वरूपा मां विंध्यवासिनी के नाम से मीरजापुर मेडिकल कॉलेज का नामकरण किया जा रहा है। गाजीपुर के नव निर्मित मेडिकल कालेज का नामकरण महार्षि विश्वामित्र होगा। प्राचीन काल में महार्षि विश्वामित्र के पिता राजा गाधि की राजधानी गाधिपुरी हुआ करती थी। 1330 ईसवी में गाधिपुर से इसका नाम गाजीपुर कर दिया गया।

इसी तरह प्रतापगढ़ के राजकीय मेडिकल कालेज को अपना दल के संस्थापक स्व. डॉ. सोने लाल पटेल के नाम से जाना जाएगा। वह कमेरा समाज के बड़े नेता थे। उनकी बेटी अनुप्रिया पटेल अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और केंद्रीय मंत्री हैं। जल्द ही छह अन्य मेडिकल कॉलेजों के नाम भी तय हो जाएंगे। नए नौ मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की 900 सीटें बढ़ जाएंगी। हर मेडिकल कालेज में सौ-सौ सीटें हैं। शैक्षिक सत्र वर्ष 2021-22 से पढ़ाई शुरू करने के लिए 450 संकाय सदस्यों की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

यूपी के इतिहास में एक साथ इतनी बड़ी संख्या में नए मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। सीएम योगी का मानना है कि हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज होना चाहिये। इसके लिए सरकार ने तेजी से कदम आगे बढ़ाए हैं। सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य में 2017 के पहले मात्र 12 मेडिकल कॉलेज ही हुआ करते थे।





सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it