Top
Begin typing your search...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई,राज्यों को दी हिदायत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ऩई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताईकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियमो के उल्लंघन पर चिंता जताई है. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि लोग हिल स्टेशन पर जा रहे हैं और वहां कोरोना के नियमों की धज्जिया उड़ा रहे है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि यदि कोरोना नियमो के ऐसी उल्लंघन होता रहा तो हम प्रतिबंधों में रियायत फिर से खत्म कर सकते हैं.स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हिल स्टेशन पर लोगों की भारी भीड़ पर चिंता जताते हुए कहा कि उचित व्यवहार का घोर उल्लंघन अब तक के हुए फायदे को कम कर सकता है. मंत्रालय ने कुछ तस्वीरें भी दिखाई. इसमें हिमाचल प्रदेश के शिमला और मनाली, दिल्ली के लक्ष्मी नगर और सदर बाजार और मुंबई के दादर मार्केट की की तस्वीरें साझा की है , जिसमें लोगों की भीड़ को दिखाया गया है।

लव अग्रवाल ने कहा कि कुछ ज़िलों में अधिक संक्रमण देखा जाए तो हमें ये मानकर चलना पड़ेगा कि कुछ इलाकों में अभी भी दूसरी लहर है. देश में अभी भी कुछ ज़िले ऐसे हैं, जहां पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से ज़्यादा है. मुख्यत: अरुणाचल प्रदेश, राजस्थान, मणिपुर, केरल, मेघालय, त्रिपुरा, सिक्किम, ओडिशा, नागालैंड में पॉजिटिविटी ज़्यादा है. देश के 17 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 73 जिलों में 29 जून-पांच जुलाई के सप्ताह में संक्रमण दर 10 फीसदी अधिक थी, 91 जिलों में चार जुलाई को समाप्त सप्ताह में कोविड-19 के रोजाना 100 से अधिक मामले आए 90 जिलों में 80 फीसदी मामले इसके साथ ही उन्होंने कहा कि देश में पिछले 9 दिन से लगातार 50,000 से कम मामले रिपोर्ट हो रहे हैं।


Rajesh Kumar
Next Story
Share it