Top
Begin typing your search...

लॉकडाउन क्यों नहीं है नाकाफी? विश्व स्वास्थ्य अधिकारी ने यह कहकर मचाई सनसनी

CoronaVirus से बचने के लिए LockDown काफी नहीं, WHO के अधिकारी ने चेताया...

लॉकडाउन क्यों नहीं है नाकाफी? विश्व स्वास्थ्य अधिकारी ने यह कहकर मचाई सनसनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अगर आप समझ रहे हैं कि कोरोना वायरस (Corona Virus) से बचाव के लिए लॉकडाउन सही कदम है तो आप गलत भी हो सकते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह कहकर सबको चौंका दिया है कि शहरों और देशों को सिर्फ लॉकडाउन करके ही कोरोना वायरस से बचाने वाला उपाय नाकाफी है. उन्होने जो तर्क दिया है वो हम सभी को सोचने पर मजूबर कर सकता है.

लॉकडाउन क्यों नहीं है नाकाफी

WHO के सीनियर इमरजेंसी एक्सपर्ट माइक रेयान (Mike Ryan) का कहना है कि सरकारों द्वारा सिर्फ लॉकडाउन करके कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने का प्रयास करने से कुछ नहीं होने वाला. उनका कहना है कि लॉकडाउन के बाद जब सभी शहरों को राज्यों को खोल दिया जाएगा तो इससे आम जनता की भीड़ अचानक से सार्वजनिक स्थानों पर उमड़ पड़ेगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रेयान का कहना है कि अगर सही और कड़े कदम नहीं लिए गए तो कोरोना वायरस एक ब्रेक के बाद ज्यादा आक्रामकता से लोगों पर हमला कर सकता है.

3.81 लाख से ज्यादा लोग है प्रभावित

जॉन हॉपकिंस की ओर से जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार अब तक पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से 3,81 लाख लोग संक्रमित हो चुके है. इनमें से 16,559 लोग अब तक दम तोड़ चुके हैं. लेकिन इसके साथ ही एक अच्छी बात ये है कि अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बावजूद 1.01 लाख लोग ठीक भी हो चुके हैं.

दुनिया के ज्यादातर देशों ने कर रखा है लॉकडाउन

जानकारों का कहना है कि दुनिया के ज्यादातर कोरोना संक्रमित देशों ने लॉकडाउन कर दिया है. इटली, ईरान, अमेरिका और तमाम यूरोपीय देशों ने आम लोगों को घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it