Top
Begin typing your search...

क्या कोई बताएगा कि वैक्सीन इतनी कारगर है तो फिर पूरी दुनिया मे संक्रमण घटने के बजाए बढ़ क्यो रहा है ?

नीदरलैंड में कोरोना के साप्ताहिक मामलों में 300 प्रतिशत का इजाफा हुआ है वहां 43 प्रतिशत लोगो को टीके की दोनों डोज लग चुकी है.

क्या कोई बताएगा कि वैक्सीन इतनी कारगर है तो फिर पूरी दुनिया मे संक्रमण घटने के बजाए बढ़ क्यो रहा है ?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गिरीश मालवीय

क्या कोई बताएगा कि वैक्सीन इतनी कारगर है तो फिर पूरी दुनिया मे संक्रमण घटने के बजाए बढ़ क्यो रहा है ? 20 जून को जहा विश्व में 3 लाख तीन हजार केस थे वही 15 जुलाई को 5 लाख 63 हजार केस आए है.

वेक्सीनेशन में मॉडल बताए जा रहे देश इजरायल में भी अब रोज नए 900 से 1000 पेशेंट आ रहे है . इजरायल में सर्वाधिक 85 फीसदी वयस्कों का वैक्सीनेशन हो चुका है लेकिन अब यहां नए संक्रमण में इजाफा देखा जा रहा है। वहा अब तीसरी डोज को अनुमति दी जा रही है ?

अमेरिका जहां 49 प्रतिशत लोगो को टीके की दोनों डोज लग चुकी है वहां दिन प्रतिदिन केस क्यों बढ़ रहे है ?

अमेरिका 50 राज्यों में से 19 में पुराने मामलों की तुलना में कोरोना के दोगुने नए केस सामने आ रहे हैं। इन राज्यों में पिछले 25 दिनों में संक्रमण के नए मामलों में 350% की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है अब वहा वापस मास्क लगाने की पाबंदी लागू की जा रही है.

ब्रिटेन में जहा 53 प्रतिशत लोगो को टीके की दोनों डोज लग चुकी है वंहा पिछले 25 दिनों में 253 प्रतिशत केस बढे है 25 जून को जहा पंद्रह हजार केस मिले थे वह कल साढ़े 48 हजार केस मिले है इंग्लैंड के मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रो. क्रिस व्हिटी ने कहा कि कोविड-19 के कारण अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या करीब हर तीसरे हफ्ते में दोगुनी हो रही है। यदि यही रुख बना रहा तो आंकड़े भयावह हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि कि हमें कोरोना के मामलों में आश्चर्यजनक तेजी को नजरंदाज नहीं करना चाहिए। यदि यह तेजी बनी रहती है तो हम मुसीबत में फंस सकते हैं।

नीदरलैंड में कोरोना के साप्ताहिक मामलों में 300 प्रतिशत का इजाफा हुआ है वहां 43 प्रतिशत लोगो को टीके की दोनों डोज लग चुकी है.

इंडोनेशिया तो इस इस समय एशिया में कोरोना का एपीसेंटर बन गया है इंडोनेशिया में कल 56,757 केस सामने आए जबकि इंडोनेसिया में आबादी के प्रतिशत के हिसाब से 5 .9 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लग चुके है जो भारत से भी ज्यादा है इसके अलावा थाईलैंड, म्यांमार, मलेशिया, बांग्लादेश में भी अब अभूतपूर्व उछाल देखने को मिल रहा है।

दक्षिण अमेरिका की हालत तो बहुत बुरी है ब्राजील में तो वेक्सिनेशन का कोई प्रभाव ही नजर आ रहा है जबकि 15.7 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लग चुके है. अर्जेंटीना में भी संक्रमण की गति तेज है वहां भी साढ़े ग्यारह प्रतिशत जनता को दोनों डोज लग चुकी है. चिली में तो 60 प्रतिशत जनता फुल वेक्सीनेटेड हो गयी है लेकिन वहां भी संक्रमण बढ़ रहा है , बाकी देश भी बढ़ते संक्रमण से जूझ रहे हैं.

यूरोप में भी ऐसा ही हाल है स्पेन में भी जहां 49 प्रतिशत लोगो को टीके की दोनों डोज लग चुकी है वहां संक्रमितों की संख्या इतनी क्यों उछल रही है वह भी पिछले 25 दिनों में संक्रमण के नए मामलों में 462% की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है 25 जून को जहा पांच हजार केस मिले थे वह कल साढ़े 28 हजार केस मिले है.

यानी जिन देशों में लोगो को 50 प्रतिशत के आसपास दोनो डोज लगी हुई है वो अब भी संक्रमित हो रहे हैं ऐसा क्यो है कुछ लोग डेल्टा वेरियंट को इसकी वजह बता देंगे, ओर उसे रोकने के लिए तीसरी वाली बूस्टर डोज की हिमायत करेंगे.

लेकिन क्या गारंटी है कि तीसरी डोज मिलने पर भी यह बीमारी रुक जाएगी, क्या तब तक ओर कोई नया वेरियंट नही आ जाएगा ?

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it