Begin typing your search...

अफगानिस्तान:स्वतंत्रता दिवस पर तालिबान की बर्बरता,तीन लोगों की मौत

सूत्रों के अनुसार, अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद यह पहला सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन सामने आया है

अफगानिस्तान:स्वतंत्रता दिवस पर तालिबान की बर्बरता,तीन लोगों की मौत
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्ज़ा हो गया है.ऐसे में गुरुवार को असदाबाद शहर में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्थानीय लोग ने राष्ट्रीय ध्वज को हाथो में लेकर रैली निकाल रहे थे.तभी तालिबान के लडाको ने मासूम आवाम पर गोलियां चला दी.जिसमें बताए जा रहे है कई लोग मारे गए है. एक चश्मदीद ने कहा कि एक दिन पहले भी इसी तरह के विरोध में तीन लोग मारे गए थे.

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी अनुसार, अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद यह पहला सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन सामने आया है. इस विरोध प्रदर्शन में अफगानिस्तान का राष्ट्रीय ध्वज लहराते हुए तालिबाने के सफेद झंडे फाड़े गए.कुनार प्रांत की राजधानी पूर्वी शहर के रहने वाले मोहम्मद सलीम ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि असदाबाद में लोग गोलीबारी में मारे गए हैं या भगदड़ के कारण उनकी मौत हुई है.

वही सलीम ने कहा, "सैकड़ों लोग सड़कों पर निकल आए." "पहले तो मैं डर गया था और जाना नहीं चाहता था, लेकिन जब मैंने देखा कि मेरा एक पड़ोसी भी इसमें शामिल हो गया है तो मैंने घर पर लगा झंडा निकाल लिया."

"तालिबान द्वारा भगदड़ और गोलीबारी में कई लोग मारे गए और घायल हुए हैं." इस घटनाक्रम पर अभी तक तालिबान की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूर्वी शहर जलालाबाद और पक्तिया प्रांत के एक जिले में भी विरोध प्रदर्शन किया गया लेकिन यहां गंभीर हिंसा की कोई खबर नहीं है.

अफगानिस्तान हर साल 19 अगस्त को ब्रिटिश नियंत्रण से अपनी स्वतंत्रता का जश्न मनाता है. प्रत्यक्षदर्शियों और मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बुधवार को तालिबान लड़ाकों ने जलालाबाद में काले, लाल और हरे रंग का राष्ट्रीय ध्वज लहरा रहे प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी की, जिसमें तीन की मौत हो गई



RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it