Top
Begin typing your search...

अपनी माँ का सर काटकर बाहर लाई और फिर पड़ोसियों से बोली

इतनी बेरहमी से अपनी मां को मारने के बाद भी कैमिलेरी ने खुद को हत्या का दोषी न माने जाने के लिए अनुरोध किया है. उसने तर्क दिया है कि उसकी मानसिक स्थिति के कारण उसने खुद पर से नियंत्रण खो दिया था. जबकि कैमिलेरी को दोषी पाने में जूरी को केवल 2 दिन का समय लगा है.

अपनी माँ का सर काटकर बाहर लाई और फिर पड़ोसियों से बोली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ऑस्ट्रेलिया (Australia) के सिडनी (Sydney) में एक महिला को अदालत में हुई बहस के बाद अपनी ही मां का सिर काटकर हत्‍या करने का दोषी पाया गया है. महिला कई तरह के मेंटल डिस्‍ऑर्डर की शिकार है. 27 साल की जेसिका कैमिलेरी ने एक मनोचिकित्सक (Psychiatrist) को बताया कि उसने यह जघन्य अपराध हिंसक हॉरर फिल्में देखकर किया और उसे ऐसी फिल्‍में देखना बहुत पसंद है.

मां को कई बार घोंपे चाकू

एनएसडब्ल्यू सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में बताया गया कि उसने पिछले साल जुलाई में घर पर अपनी 57 साल की मां रीता को कई बार चाकू घोंपे और उसका कटा हुआ सिर बाहर लाकर अपने पड़ोसियों से पुलिस को बुलाने के लिए कहा.

इतनी बेरहमी से अपनी मां को मारने के बाद भी कैमिलेरी ने खुद को हत्या का दोषी न माने जाने के लिए अनुरोध किया है. उसने तर्क दिया है कि उसकी मानसिक स्थिति के कारण उसने खुद पर से नियंत्रण खो दिया था. जबकि कैमिलेरी को दोषी पाने में जूरी को केवल 2 दिन का समय लगा है.

बार-बार पलटे बयान

परीक्षण के दौरान जूरी के लोगों को इस भीषण दृश्‍य का वीडियो दिखाया गया, जो कि एक पुलिस अधिकारी के शरीर पर लगे कैमरे में कैद हुआ था. इसमें खून से लथपथ कैमिलेरी कह रही है, 'क्या मैं पूछ सकती हूं कि क्या मेरी मां मर चुकी है? मुझे पागल मत समझें लेकिन आप उसे फिर से जीवित नहीं कर सकते हैं?'

कैमिलेरी ने पुलिस को बताया कि वह इतने गुस्से में थी, जितनी पहले कभी नहीं रही. उसकी मां ने उसे किचन में बालों से खींचा और पहले चाकू पकड़ा, लिहाजा वह खुद को बचाने के लिए मजबूर हो गई. उसने आगे कहा, 'मैं उन्‍हें उनके ही तरीके से जबाव देना चाहती थी लेकिन उसे मारना नहीं चाहती थी.' लेकिन बाद में मनोचिकित्सकों ने जब उसकी जांच की तो उसने अलग बयान दिया और कहा वह अपनी मां को घसीटते हुए हथियार के पास पहुंची.

अदालत को बताया गया कि अपने इलाज के लिए प्राकृतिक विकल्‍प तलाश रही कैमिलेरी ने 6 महीने पहले से मनोरोग की दवाएं लेना बंद कर दिया था. उसकी बहन क्रिस्टी टॉरिसि ने कहा कि वह अपनी मां से लगातार अपना ध्‍यान देने के लिए कहती थी और मां उसका ध्‍यान रखते-रखते थक गई थी. अब कैमिलेरी को फरवरी में सजा सुनाई जाएगी.



Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it