Top
Begin typing your search...

देश में कोयले की कमी के चलते रूस‌ ने भारत के लिए बढ़ाया मदद का हाथ, कोकिंग कोयले पर अहम समझौता

इस्पात बनाने और इस्पात क्षेत्र में आरएंडडी में उपयोग होने वाले कोकिंग कोयले में सहयोग के संबंध में दोनों देशों के बीच एक अहम समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए

देश में कोयले की कमी के चलते रूस‌ ने भारत के लिए बढ़ाया मदद का हाथ, कोकिंग कोयले पर अहम समझौता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पीआईबी, नई दिल्ली: राम चंद्र प्रसाद सिंह ने आज रशियन एनर्जी वीक के दौरान मॉस्को में रूसी गणराज्य के ऊर्जा मंत्री निकोले शुलगिनोव के साथ मुलाकात की। इस्पात बनाने और इस्पात क्षेत्र में आरएंडडी में उपयोग होने वाले कोकिंग कोयले में सहयोग के संबंध में दोनों देशों के बीच एक अहम समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

इस समझौते के माध्यम से भारत को अच्छी गुणवत्ता के कोकिंग कोयले की दीर्घकालिक आपूर्ति, कोकिंग कोयले के भंडारों के विकास और लॉजिस्टिक विकास, कोकिंग कोयले के उत्पादन के प्रबंधन में अनुभव, खनन प्रौद्योगिकियां साझा करने, बेनिफिकेशन और प्रोसेसिंग के साथ ही प्रशिक्षण सहित कोकिंग कोयले में संयुक्त परियोजनाओं/ व्यावसायिक गतिविधियों के कार्यान्वयन की कल्पना की गई है।

इस बैठक के दौरान, दोनों नेताओं ने इस्पात क्षेत्र में कोकिंग कोयले में सहयोग के अवसरों पर विचार विमर्श किया।

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it