Top
Begin typing your search...

भारत में अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की निंदा करने पर इमरान खान को इस्लामिक देशों के सम्मेलन से निष्कासित कर दिया गया।

दुनिया के मुसलमानों के लिए क्या अयोध्या राम मंदिर समस्या है ? आप भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखते हैं? : OIC

भारत में अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की निंदा करने पर इमरान खान को इस्लामिक देशों के सम्मेलन से निष्कासित कर दिया गया।
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भारत में अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की निंदा करने पर इमरान खान को इस्लामिक देशों के सम्मेलन से निष्कासित कर दिया गया..

सम्मेलन की अध्यक्षता करने वाले संयुक्त अरब अमीरात के प्रतिनिधि ने इमरान को स्पष्ट किया कि इस्लामिक दुनिया के लिए क्या यह कोई समस्या है कि भारत ने अपने ही देश में एक मंदिर क्यो बनाया है?

दुनिया के मुसलमानों के लिए क्या अयोध्या राम मंदिर समस्या है ? आप भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखते हैं?

हमने अपने देश में हिंदू मंदिर निर्माण के लिए 13 एकड़ जमीन और पार्किंग व अन्य सुविधाओं के लिए 13 एकड़ जमीन मुहैया कराई है। दुनिया के हर देश में हिंदू रहते हैं और पढ़ते हैं। लेकिन क्या वे दंगे भड़का रहे हैं? या फिर धर्म के नाम पर आत्मघाती हमले कर रहे हैं।

हिंदू जहाँ रहते है उस देश के कानूनों के अनुसार रहते हैं। यह वह मुद्दा नहीं है जिस पर अभी यहां चर्चा की जानी है।

पाकिस्तान OIC से लिया कर्ज कब चुकाएगा?

पाकिस्तान को छोड़कर सभी इस्लामी देशों ने इस कोष में योगदान दिया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सिर्फ कर्ज खरीद रहा है लेकिन चुकाने में नाकाम रहा है। उसके बाद मालदीव के राष्ट्रपति ने खड़े होकर बताया कि भारत हमारे देश के मामलों में कभी हस्तक्षेप नहीं करता, लेकिन वह हमारे अनुरोध पर हमारी मदद करता है, कभी किसी प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं करता।

जब चीन के वुहान में 19 वायरस फैला, तो भारत ने मालदीव और बांग्लादेश सहित कई देशों के लोगों को धर्म की परवाह किए बिना बचाया। हमें यह समझने की जरूरत है कि भारत ने मानवीय तरीके से ऐसा किया और इसके लिए कोई पैसा नहीं लिया।

पाकिस्तान हिंदू मंदिरों और ईसाई चर्चों को जला रहा है पाकिस्तान यह रिपोर्ट करने में ईमानदार नहीं है कि भारत अपने देश में मुसलमानों को दूसरे दर्जे का नागरिक मानता है।

भारत महामारी की चपेट में आए मालदीव समेत इस्लामिक देशों और दुनिया के अन्य हिस्सों को दवाएं और चिकित्सा सहायता मुहैया कराता है।

क्या पाकिस्तान ने धर्म या रंग की परवाह किए बिना किसी देश की मदद की है?

भारत एक सच्चा सहयोगी है जो संकट के समय मदद करता है..!विश्व में हिन्दू धर्म ही एकमात्र धर्म है जो वसुधेव कुटुम्बकम अर्थात पूरा विश्व एक परिवार के विचारक हैं जो सभी धर्मों को ईमानदारी और सहनशीलता से अपने परिवार के रूप में देखते हैं।

वे दुनिया को धमकी देने वाले असहिष्णु आतंकवादी नहीं हैं।भारत हमारा सबसे अच्छा दोस्त है। सऊदी अरब के बादशाह फौरन उठ खड़े हुए, उन्होंने यह भी कहा कि अगर इमरान खान सम्मेलन में प्रभावी ढंग से शामिल नहीं हो पाए तो वह अपने देश लौट सकते हैं।

सभी इस्लामिक देशों ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को सम्मेलन से वापस जाने की घोषणा के लिए सऊदी अरब को बधाई दी और प्रस्ताव को तालियों के साथ पारित किया।

स्रोत -WION News

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it