Top
Begin typing your search...

पाकिस्तान में चीनी नागरिकों से भरी बस को बम से उड़ाया, 10 लोगों की मौत, कई जख्मी

पाकिस्तान के हजारा क्षेत्र में 30 चीनी नागरिकों को ले जा रही बस को बम से उड़ा दिया गया है.

पाकिस्तान में चीनी नागरिकों से भरी बस को बम से उड़ाया, 10 लोगों की मौत, कई जख्मी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पाकिस्तान (Pakistan) के उत्तरी हिस्से में बुधवार को एक बस को निशाना बनाकर जबरदस्त धमाका (Bomb Blast) किया गया. इस हमले में 10 लोगों की मौत हो गई, मरने वालों में छह चीनी नागरिक (Chinese nationals) और एक पाकिस्तानी जवान भी शामिल हैं. सूत्रों ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को इसकी जानकारी दी है. देश के उत्तरी हिस्से में एक सुनसान जगह हुए इस धमाके को लेकर अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि ये सड़क किनारे लगाई गई आईईडी की वजह से हुआ है या फिर बस के भीतर ही विस्फोटक लगाया था. जियो न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया है कि धमाके में 40 के करीब लोग घायल हुए हैं.

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि धमाका इतना जबरदस्त था कि बस एक नाले में गिर गई और भारी नुकसान हुआ. एक चीनी नागिरक और एक जवान गायब हैं. उन्होंने बताया कि राहत एवं बचाव कार्य जारी है. पूरी सरकारी मशीनरी को इलाके में तैनात कर दिया गया है, ताकि घायलों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाया जा सके. घायलों की मदद के लिए एयर एंबुलेंस की भी मदद ली जा रही है. उन्होंने बताया कि इस धमाके में छह चीनी नागरिक, एक अर्धसैनिक जवान और एक स्थानी व्यक्ति मारे गए हैं, जबकि कई लोग बुरी तरह जख्मी हुए हैं.

दसू बांध पर चीनी इंजीनियरों को ले जा रही थी बस

हजारा क्षेत्र के एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि ऊपरी कोहिस्तान (Upper Kohistan) में चीनी इंजीनियरों (Chinese engineers) को लेकर जा रही बस में जोरदार धमाका हुआ है. आठ लोगों की जान चली गई है. उन्होंने कहा कि बस 30 से अधिक चीनी इंजीनियरों को ऊपरी कोहिस्तान में दसू बांध (Dasu dam) की साइट पर ले जा रही थी. इंजीनियरों के साथ अर्धसैनिक बल का सुरक्षाकर्मी भी मारा गया है. पाकिस्तान में पहले भी इस तरह के धमाके होते रहे हैं. ये इलाका खैबर पख्तूनख्वा में स्थित है, जहां पर पाकिस्तान तालिबान के आतंकी सक्रिय हैं.

दसू जलविद्युत परियोजना (Dasu hydroelectric project) चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) का हिस्सा है, जो बीजिंग (Beijing) की बेल्ट एंड रोड पहल (Belt and Road Initiative) के तहत 65 अरब डॉलर की निवेश योजना है. इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य पश्चिमी चीन को दक्षिणी पाकिस्तान में ग्वादर समुद्री बंदरगाह (Gwadar sea port) से जोड़ना है. चीनी इंजीनियर पाकिस्तानी कंस्ट्रक्शन मजदूरों के साथ उस क्षेत्र में कई वर्षों से दसू जलविद्युत परियोजना और कई अन्य योजनाओं पर काम कर रहे हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it