Begin typing your search...

फेसबुक का नाम बदलकर जकरबर्ग ने गंवाई आधी संपत्ति, टॉप 10 अमीरों की लिस्ट से आउट

फेसबुक का नाम बदलकर जकरबर्ग ने गंवाई आधी संपत्ति, टॉप 10 अमीरों की लिस्ट से आउट
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Mark Zuckerberg Networth: फेसबुक (Facebook Inc) का नाम बदलकर मेटा (Meta) रखने के बाद से जकरबर्ग की कंपनी को लगातार नुकसान हो रहा है. इस वजह से कभी टॉप अमीरों की सूची में शामिल रहने वाले जकरबर्ग (Mark Zuckerberg) दुनिया में सबसे ज्यादा संपत्ति के मामले में लुढ़ककर 20वे नंबर पर पहुंच गए हैं. जकरबर्ग के पास पहले जेफ बेजोस और बिल गेट्स से थोड़ी ही कम सम्पत्ति थी, लेकिन अब फेसबुक के फाउंडर इनसे काफी पिछड़ गए हैं. आपको बता दें जेफ बेजोस और बिल गेट्स दोनों ही अलग-अलग वक्त पर दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति रहने का खिताब हासिल कर चुके हैं.

फेसबुक से मेटा

फेसबुक एक पॉपुलर सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म था. कुछ वक्त पहले जकरबर्ग ने फेसबुक का नाम बदलकर मेटा रख दिया, इसके बाद से उनकी सम्पत्ति में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. कभी टॉप पर रहने वाली फेसबुक आज कमाई के मामले में पिछड़ती जा रही है. सितंबर 2021 में फेसबुक के 291 करोड़ यूजर थे. भारत अकेले में फेसबुक चलाने वालों की संख्या 34 करोड़ से भी ज्यादा है.

फेसबुक की शुरुआत

फेसबुक की स्थापना 2004 में हुई थी. इसके बाद से कई बार कंपनी विवादों में भी रही, लेकिन धीरे-धीरे फेसबुक सबका फेवरेट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बन गई थी. 2014 के बाद से फेसबुक की सम्पत्ति में लगातार उछाल आ रहा था. फेसबुक की पॉपुलरटी बहुत ज्यादा थी. एक वक्त पर सोशल मीडिया का मतलब ही फेसबुक समझा जाने लगा था.

आधी रह गई सम्पत्ति

जकरबर्ग की संपत्ति दो साल साल पहले तक 106 बिलियन डॉलर थीं जबकि अब ये घटकर मात्र 55.9 बिलियन डॉलर रह गई है. सितंबर 2021 में जकरबर्ग की सम्पत्ति 142 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई थी. फेसबुक के अलावा व्हाट्स एप (Whats app) और इंस्टाग्राम (Instagram) भी जकरबर्ग ने टेकओवर की हैं, इनका मालिकाना हक जकरबर्ग के पास ही है.

अरबपतियों की सम्पत्ति को घाटा

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक 2022 के शुरूआती 6 महीनों में दुनिया के टॉप 500 अमीरों की सम्पत्ति में अब तक की सबसे भारी गिरावट आई है. इस दौरान अमीरों की सम्पत्ति को 1.4 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान झेलना पड़ा है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it