Top
Begin typing your search...

पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले फिदायीन आतंकी का वो जहरीला संदेश, जिसे सुनकर खून खौल उठेगा?

आतंकी ने विडियो संदेश में कहा था, 'यह संदेश जब तक आपके पास पहुंचेगा, उस वक्त तक मैं जन्नत में पहुंच जाऊंगा।

पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले फिदायीन आतंकी का वो जहरीला संदेश, जिसे सुनकर खून खौल उठेगा?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जम्मू : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जिस आतंकी हमले में करीब 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए, उसे अंजाम देने वाले आदिल अहमद डार का घर घटनास्थल के केवल दस किलोमीटर दूर है। दक्षिण कश्मीर के गुंदीबाग गांव का रहने वाला 22 साल का डार का स्कूल 12वीं कक्षा में छुड़वा दिया गया था। बाद में वह आतंकवादी बन गया। आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मन ने आदिल अहमद डार को 'वकस कमांडो' नाम दिया था। वह किसी बड़े आत्मघाती हमले को अंजाम देने के लिए जैश-ए-मोहम्मद द्वारा तैयार किया गया तीसरा फिदायीन हमलावर था।

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर जघन्य फिदायीन हमले को अंजाम देने वाले आतंकी ने घटना से ठीक पहले एक विडियो के जरिए जहरीला संदेश जारी कर कहा था, 'प्यार में न पड़ें।' आदिल अहमद डार नाम के पुलवामा के ही गुंडीबाग गांव के रहने वाले 20 साल के आतंकी का यह आखिरी संदेश था। डार ने विस्फोटकों से लदी स्कॉर्पियो कार को सीआरपीएफ जवानों को ले जा रहे काफिले के बीच में घुसाते हुए एक वाहन से टकरा दिया था। इससे ट्रक में सवार 38 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।

आतंकी ने विडियो संदेश में कहा था, 'यह संदेश जब तक आपके पास पहुंचेगा, उस वक्त तक मैं जन्नत में पहुंच जाऊंगा। कश्मीर के लोगों के लिए यह मेरा आखिरी संदेश है। जैश ने आग को जिंदा रखा है और खराब हालातों में भी डटने का काम किया है। आएं, ग्रुप का हिस्सा बनें और आखिरी रात के लिए तैयारी करें।'

इस विडियो के जरिए खूंखार आतंकी ने कश्मीर युवाओं से भारत के खिलाफ जिहाद छेड़ने की अपील की थी। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा का रहने वाला आदिल जैश के फिदायीन दस्ते का सदस्य था।

जैश-ए-मोहम्मद की ओर से जारी किए गए विडियो में आतंकी डार युवाओं से प्यार के दूर रहने की अपील करता दिख रहा है। वह कहता है कि मुस्लिम महिलाओं को पर्दे में रहना चाहिए। यही नहीं वह अपने परिवार, दोस्तों और रिश्तेदारों को संबोधित करते हुए कहता है कि इस्लाम के लिए उसकी शहादत का वे जश्न मनाएं। माना जा रहा है कि डार ने प्यार से दूर रहने की अपील शायद इसलिए की थी क्योंकि बीते कुछ महीनों में सुरक्षा बलों को ऐसे कई आतंकियों को पकड़ने में मदद मिली थी, जो किसी गर्लफ्रेंड के घर आए थे या फिर उनके साथ रिलेशन में थे।

आतंकी डार ने विडियो में कहा, 'वे फोर्स के जरिए यह जंग नहीं जीत सकते। वे आपको मजहब की राह से भटकाने का प्रयास कर रहे हैं। वे चाहते हैं कि आप इस्लाम के सिद्धातों से भटक जाएं। दुनिया भर के सुखों का लालच देकर वे इस्लाम की राह से आपको अलग करना चाहते हैं।

Special Coverage News
Next Story
Share it