Top
Begin typing your search...

झारखंड में बड़ा हादसा, लातेहार में करमा विसर्जन के दौरान डूबने से 7 लड़कियों की मौत

जानकारी के मुताबिक, मृतकों में से तीन आपस में सगी बहनें थीं.

झारखंड में बड़ा हादसा, लातेहार में करमा विसर्जन के दौरान डूबने से 7 लड़कियों की मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झारखंड के लातेहार में बड़ा हादसा पेश आया है. जिले के बालूमाथ में करमा विसर्जन के दौरान पानी में डूबने से 7 लड़कियों की मौत हो गई. घटना बालूमाथ थाना इलाके के शेरेगाड़ा ग्राम के मननडीह टोला की है. जानकारी के मुताबिक करमा डाल विसर्जन के दौरान 7 लड़कियां डूब गईं. मृतकों की उम्र 10 से लेकर 20 वर्ष के बीच बताई जा रही है. घटना की सूचना पर बालूमाथ पुलिस मौके पर पहुंचकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. घटना से गांव में कोहराम मच गया है.

जानकारी के मुताबिक, मृतकों में से तीन आपस में सगी बहनें थीं. मननडीह टोला निवासी अकलू गंझू की बेटियां थीं. मृतकों में रेखा कुमारी (18 वर्ष), लक्ष्मी कुमारी (8 वर्ष), रीना कुमारी (11 वर्ष), मीना कुमारी (8 वर्ष), पिंकी कुमारी (15 वर्ष), सुषमा कुमारी (7 वर्ष), सुनीता कुमारी (17 वर्ष) शामिल हैं. सभी शेरेगाड़ा ग्राम के मननडीह टोला की रहने वाली थीं.

ग्रामीणों के मुताबिक टोरी-बालूमाथ-शिवपुर रेलवे लाइन निर्माण के लिए खोदे गए गहरे गड्ढे में लड़कियां करमा डाल का विसर्जन करने गई थीं. इस दौरान ये हादस पेश आया. ग्रामीणों जब तक मौके पर पहुंचे और लड़कियों को बाहर निकाला, तब तक 4 लड़कियां मौके पर ही दम तोड़ चुकी थीं. बाकी तीन को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें भी मृत घोषित कर दिया.

मृतकों के नाम

1. रेखा कुमारी, 18 वर्ष (पिता अकलू गंझू)

2. लक्ष्मी कुमारी, 8 वर्ष (पिता अकलू गंझू)

3. रीना कुमारी, 11 वर्ष (पिता अकलू गंझू)

4. मीना कुमारी, 8 वर्ष (पिता लालदेव गंझू)

5. पिंकी कुमारी, 15 वर्ष (पिता जगन गंझू)

6. सुषमा कुमारी, 7 वर्ष (पिता चरण गंझू)

7. सुनीता कुमारी, 17 वर्ष (पिता स्वर्गीय बिफा गंझू)

आदिवासियों का पर्व करमा शुक्रवार को धूमधाम से पूरे राज्य में मनाया गया. लेकिन लातेहार के बालूमाथ में इस दर्दनाक हादसे के चलते पर्व की खुशियां मातम में बदल गईं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it