Top
Begin typing your search...

कर्नाटक में भारी बारिश से मकान ढहा, 7 की मौत; मृतकों में 2 बच्चे भी शामिल

सीएम बसवराज बोम्मई ने मृतकों के परिवारों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा भी की है.

कर्नाटक में भारी बारिश से मकान ढहा, 7 की मौत; मृतकों में 2 बच्चे भी शामिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कर्नाटक में बेलगावी के बड़ाला अंकलगी गांव में कल रात भारी बारिश के कारण मकान गिरने की घटना में दो बच्चों समेत सात लोगों की मौत हो गई. हिरेबागेवाड़ी थाना के उपायुक्त एमजी हिरेमत ने कहा कि मरने वाले सभी लोगों का पोस्टमार्टम होगा. सीएम बसवराज बोम्मई ने मृतकों के परिवारों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा भी की है.

बताया जा रहा है इलाके में भारी बारिश के बाद मकान गिर गया. जिसमें रह रहे लोग दब गए. सूत्रों की माने तो पांच लोगों ने तो मौके पर ही दम तोड़ दिया था जबकि दो लोगों की अस्पताल जाते वक्त हुई.इसके साथ-साथ मुख्यमंत्री स्थानीय अधिकारियों से घटनास्थल का दौरा करने और सभी जरूरी कदम उठाने के भी निर्देश दिए। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था.

कर्नाटक में 4-6 अक्टूबर के बीच भारी बारिश का था अनुमान

गांव में एक साथ सात लोगों की मौत के बाद मातम पसरा हुआ है. बता दें कि तमिलनाडु तट के पास दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ था. मौसम विभाग ने कर्नाटक में 4-6 अक्टूबर के बीच भारी बारिश का अनुमान लगाया था. जिसके बाद राज्य के कुछ हिस्सों में बुधवार को तेज बारिश हुई.

वहीं हाल ही में यूपी के घोसी तहसील क्षेत्र के अकोल्ही मुबारकपुर गांव की दलित बस्ती में एक कच्चा मकान गिर जाने से भवन स्वामी दूधनाथ राम की मौत हो गई. चार दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते सोमवार की भोर में अकोल्ही मुबारकपुर गांव निवासी दूधनाथ (66 वर्ष) पुत्र जंगली कटरैन वाले अपने कच्चे मकान में सो रहे थे कि सोमवार की भोर लगभग ढाई बजे बारिश से कच्ची दीवार उनके ऊपर गिर गई.जिससे उसके मलवे में दब गए काफी मेहनत के बाद उनको मलवे को हटा कर बाहर निकाला गया. आनन फानन में परिजन उन्हें सीएचसी घोसी ले गये. जहां चिकित्सकों ने उन्हें हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया. परिजन घर आकर उन्हें कहीं ले जाने की तैयारी कर रहे थे कि उनकी मौत हो गई.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it