Top
Begin typing your search...

नहाते समय हर लड़की के मन में आते हैं ऐसे ख्याल

आज तारीख कौन सी है? कहीं आज मेरे पीरियड्स की डेट तो नहीं? या कितने दिन बाकि है।

नहाते समय हर लड़की के मन में आते हैं ऐसे ख्याल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अक्सर आपने कई लोगों को ये कहते सुना होगा कि उन्हें बाथरूम में बहुत सुकून मिलता है। कई लोग तो बाथरूम में घुसते हैं तो जल्दी निकलने का नाम ही लेते। कई लोगों का तो ये भी कहना होता है कि उन्हें अपने घर के बाथरूम में जो शांति मिलती है वो उन्हें कहीं नहीं मिलती। क्या आप भी ऐसे ही लोगों में से हैं जिन्हें ऐसा लगता है कि बाथरूम में बैठकर वो ज्यादा गंभीरता से सोच पाते हैं? खासतौर पर लड़कियां नहाने के दौरान ज्यादातर लड़कियों के दिमाग में एक सी ही बातें चलती हैं।नहाते समय ज्यादातर लड़कियों के मन में चलती हैं ये बातें......

- हे भगवान! मैं गंजी न हो जाऊं...पूरे फर्श पर बाल ही बाल...

- आज तारीख कौन सी है? कहीं आज मेरे पीरियड्स की डेट तो नहीं? या कितने दिन बाकि है।

- क्या मुझे आज अपने बाल धोने चाहिए? रहने देती हूं, आज नहीं धोती हूं, वैसे भी मुझे आज किसी से मिलना नहीं है.

- बिना कपड़ों के मैं कितनी बेडौल दिख रही हूं, मुझे जल्दी से जल्दी एक्सरसाइज करना शुरू कर देना चाहिए।

- क्या मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड को फोन करके अभी बुला लूं? जब तक वो आएगा मैं तैयार हो जाउंगी और फिर बहार चलते है।

- अगर मैं चाहूं तो मैं अच्छा गा सकती हूं। मुझे सिर्फ थोड़ी प्रैक्टिबस की जरूरत है। ज्यादातर लड़कियों को बाथरूम में गाना गाने का शौक होता है।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it