Top
Begin typing your search...

मध्यप्रदेश के रतलाम में जहरीली शराब से 12 घंटे में 13 मौत, जिम्मेदार कौन?

जब शराब की बिक्री बन्द है तो जहरीली शराब कैसे बिक रही है आखिर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?

मध्यप्रदेश के रतलाम में जहरीली शराब से 12 घंटे में 13 मौत, जिम्मेदार कौन?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रतलाम में पिछले 12 घण्टे में कुल 13 मौतें हुई है इन 13 में से 5 मौतों को कोरोना से हुई मौत माना जा रहा है जबकि ऐसा होना संदेहास्पद है क्योकि अधिकतर मौतें एक ही थाना क्षेत्र की है, इस खबर से देश भर में हड़कंप मच जाना चाहिए था कि जब शराब की बिक्री बन्द है तो जहरीली शराब कैसे बिक रही है आखिर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?

मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में शनिवार की रात 12 बजे से लेकर रविवार की दोपहर 12 बजे तक महज 12 घंटे के अंतराल में 13 लोगों की जान चली गई है। इसके अलावा एक युवक की आंखों की रोशन चली गई। इसमें ज्यादातर मौतों का कारण शराब सामने आ रहा है। हालांकि शराब से मौत के मामले तीन-चार में ही सामने आए हैं। अस्पताल और जिला प्रशासन ने मृतकों में से पांच को कोरोना संदिग्ध मानते हुए जिला मुख्यालय पर ही भक्तन की बावड़ी मुक्तिधाम पर अंतिम संस्कार कर दिया। महज 12 घंटे के अंतराल से 12 लोगों की मौत से पुलिस और स्वास्थ्य अमले में हड़कंप मच गया। मृतकों में ज्यादातर लोग नामली थाने के अलग-अलग गांवों के हैं।

ऋतुराज सिंह पिता रघुनन्द 35 नामली, पप्पू पिता प्रहलाद सिंह 22 निवासी गांधीनगर रतलाम हाल मुकाम रुघनाथगढ़, अर्जुन पिता भेरुनाथ 30 भदवासा, वीरेंद्रसिंह पिता गोपालसिंह 34 पाताखेड़ी, जावरा और कांताबाई पति जगदीश 35 निवासी कलालिया (बर्न के बाद) हैं। इन पांचों का कोरोना मरीजों की तरह ही भक्तन की बावड़ी मुक्तिधाम पर अंतिम संस्कार किया गया। इन्हें कोरोना संदिग्ध मानते हुए इनके सेंपल ले लिए गए हैं।

इसके अलावा भेरूलाल नन्दू 33 निवासी अंगेटी बड़ौदा अटैक से, जसवंत सिंह पिता रतन लाल कालबेलिया 26 निवासी भदवासा, उल्टी बुखार, प्रताप सिंह पिता रामसिंह 26 निवासी भारोड़ा, दिनेश उर्फ कारगिल पिता अंबाराम 40 निवासी सब्जी मंडी नामली, राजेंद्रसिंह पिता माधवसिंह 45 निवासी सनावदा थाना स्टेशन रोड, उमेश पिता विंज्या खराड़ी 45 गांव चिल्लर थाना डीडीनगर और जेहरा बेन पिता नजर हुसैन खाचरोदवाला निवासी बोहरा बाखल, रतलाम हैं।

फिलहाल इस पूरे मामले में कुछ नही कहे सकते हैं। मामला पूरी तरह संदिग्ध है। रतलाम के डॉक्टरों ने इन्हें कोरना संदिग्ध माना हैं। मृतको के परिजनों से मिली जानकारी जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। नामली थाना क्षेत्र में जब से में पदस्थ हुआ तब से अभी तक नामली के शराब तस्कर हीरा जाट एवं बाजेड़ा का शराब तस्कर की स्कार्पियो के अलावा सेमलिया, मेवासा और पंचेड़ सहित कुल 15 शराब प्रकरण दर्ज किए गए हैं। यह बात महेश दुवे टीआई ने कही।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it