Begin typing your search...

बीजेपी का कानून, पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन, और कही दिग्विजय ने ये बड़ी बात

बीजेपी का कानून, पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन, और कही दिग्विजय ने ये बड़ी बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि आकाश विजयवर्गीय- " हमें भाजपा में सिखाया जाता है- पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन" क्या इससे स्पष्ट नहीं होता कि भाजपा को ना नियम पर, ना क़ानून पर, ना संविधान पर विश्वास है ?

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी जी ने कल भाजपा संसदीय दल की बैठक में आकाश के इस बयान के खिलाफ नाराजी प्रकट की और आकाश के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये। यही नहीं उन भाजपा के कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये जिन्होंने जेल से छूटने के बाद उसका स्वागत किया और "हर्ष फायरिंग" की।

दिग्विजय सिंह ने कहा अगर एेंसा होता है तो मोदी जी आपको बधाई। यदि नहीं होता है तो यही कहेंगे आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नियत साफ़ नहीं है। मुझे नहीं लगता अमित शाह जी अपने प्रिय मित्र कैलाश वीजावर्गीय के बेटे का कोई नुक्सान होने देंगे। देखते हैं।

बता दें कि इंदौर में बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय ने एक नगर निगम अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से जमकर धुन डाला। उसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। उसके बाद हुई पार्लियामेंटरी बोर्ड की मीटिंग में पीएम मोदी ने कहा कि बेटा किसी का हो एसी हरकतें किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं होंगी। उसके बाद दिग्विजय सिंह ने यह बात कही है।

Special Coverage News
Next Story
Share it