Begin typing your search...

बीजेपी विधायक ने पत्रकार को पीटा और बोले, पत्रकारिता छोड़ दो वरना बेटी का रेप कर दूंगा सरेआम

बीजेपी विधायक ने पत्रकार को पीटा और बोले, पत्रकारिता छोड़ दो वरना बेटी का रेप कर दूंगा सरेआम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मध्य प्रदेश के कटनी से बीजेपी विधायक संजय पाठक पर एक स्थानीय पत्रकार ने गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्रकार रवि गुप्ता का दावा है कि बीजेपी विधायक ने उन्हें किडनैप कर बेरहमी से पीटा। इसके बाद धमकी देते हुए कहा कि पत्रकारिता छोड़ दो वरना पत्नी, बेटी और बहन का रेप कर दूंगा। इस घटना के बाद वे तीन दिनों तक थाने का चक्कर लगाते रहे, लेकिन पुलिस ने FIR दर्ज तक नहीं की।

कटनी एसपी को संबोधित शिकायती पत्र में गुप्ता ने लिखा है कि, 'पत्रकारिता मेरा पेशा हैं अतः मैं कटनी में रहकर समाचार प्रकाशित करता हूं एवं कई वर्षों से पत्रकारिता करता चला आ रहा हूं। इस महीने 23 मई को ICH में नीरज सिंह बघेल ने महानदी बचाव अभियान को लेकर एक पीसी का आयोजन किया था। इसकी खबर मैने प्रकाशित की थी। इसे लेकर उसी रात करीब 1 बजे मेरे घर विधायक संजय पाठक योग आए और धक्का देकर ले मुझे कार के अंदर जबरदस्ती बैठा दिया। वे मुझे बरगवॉ स्थित दुगाड़ी नाला के पास टिविन्स किचन रेस्टोरेंट ले गये जहां संजय पाठक सहित 12-15 लोगों ने लगभग 3 घंटे तक मेरे साथ मारपीट करते रहें।'


पत्रकार गुप्ता के मुताबिक आरोपियों ने उन्हें फांसी में लटकाकर मारने की कोशिश भी की। इसके बाद कनपटी में बंदूक रखकर धमकाया कि पत्रकारिता करना छोड़ दो। उन्होंने धमकाते हुए कहा कि आज तुझे यहां से जिंदा छोड़ रहे है यहां की बात अगर किसी को बताई अगर दुबारा मेरे खिलाफ लिखा या पत्रकारिता नहीं छोड़ी तो तेरी बीवी-बेटी एवं बहनों के साथ रेप करेंगे और तुझे किसी गंभीर अपराध में फंसाकर जेल भिजवा देगें।

गुप्ता ने बताया कि घटना के बाद वह तीन दिनों तक थाने का चक्कर लगाते रहे लेकिन FIR करने के बजाए पुलिसवाले भी उन्हें BJP विधायक के रसूख का हवाला देते डराने की कोशिशें की। पुलिसकर्मियों ने कहा कि तुम किस कि शिकायत कर रहे हो उससे लड़ने की हमारी भी हिम्मत नही हैं हमें तो नौकरी करना है। पीड़ित पत्रकार ने 27 मई को एसपी को ज्ञापन सौंपकर कहा है कि 3 दिन के भीतर विधायक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो मैं आत्मदाह कर लूंगा और इसके लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार होगी।

रवि गुप्ता ने हम समवेत को बताया कि इस घटना के बाद वे और उनके परिवार के सदस्य बेहद डरें हुए हैं। उनपर समझौते के लिए भी दबाव बनाया जा रहा है। गुप्ता ने इसे स्वतंत्र आवाज़ को दबाने की कोशिश करार दिया है। उन्होंने मांग की है कि उन्हें और उनके परिवार के सदस्यों को सुरक्षा दी जाए।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it