Begin typing your search...

'टाइगर जिंदा है' बयान पर दिग्विजय का पलटवार, बोले- शेर का शिकार करते थे मैं और माधवराव

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि शेर का चरित्र आप जानते हैं, एक जंगल में एक ही शेर रहता है.

टाइगर जिंदा है बयान पर दिग्विजय का पलटवार, बोले- शेर का शिकार करते थे मैं और माधवराव
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भोपाल : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी लीडर ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा है. सिंधिया के 'टाइगर जिंदा है' के जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि शेर का चरित्र आप जानते हैं, एक जंगल में एक ही शेर रहता है.

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के सत्ता में आने पर यह अक्सर कहते थे कि 'टाइगर अभी जिंदा है'. ऐसे में दिग्विजय सिंह ने सिंधिया के साथ ही शिवराज सिंह पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जंगल एक ही शेर रहता है.

'अब सिर्फ शेर को कैमरे में उतारता हूं'

दिग्विजय सिंह ने एक अन्य ट्वीट में कहा, "जब शिकार प्रतिबंधित नहीं था, तब मैं और श्रीमंत माधवराव सिंधिया जी शेर का शिकार किया करते थे. इंदिरा जी के वाइल्डलाइफ कंजर्वेशन एक्ट लाने के बाद से मैं अब सिर्फ शेर को कैमरे में उतारता हूं."



सिंधिया ने दिया था यह बयान

इससे पहले गुरुवार को सिंधिया ने कांग्रेस के किसी नेता का नाम लिए बगैर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि 'बीते दो माह से कुछ लोग चरित्र धूमिल करने में लगे हैं, उन लोगों को बताना चाहता हूं कि टाइगर अभी जिंदा है.'

मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व वाली सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार के समारोह में हिस्सा लेने आए सिंधिया ने कांग्रेस नेताओं पर हमला बोला. उन्होंने दिग्विजय सिंह और कमलनाथ का नाम लिए बगैर कहा, "न्याय के रास्ते पर चलना हम सभी का धर्म बनता है और अगर उसके लिए युद्ध भी करना हो तो उसकी प्रथम पंक्ति में ज्योतिरादित्य सिंधिया सदैव आगे रहेगा."

'प्रदेश की जनता देगी कांग्रेस को जवाब'

सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की भी तारीफ की. उन्होंने कांग्रेस के काल में भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाया और कहा कि इसका जवाब तो कांग्रेस को प्रदेश की जनता देगी.

बता दें कि गुरुवार को शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार में 28 नेताओं को मंत्रिपद की शपथ दिलाई गई. इस विस्तार में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए सिंधिया समर्थक 10 नेताओं को भी जगह दी गई.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it