Begin typing your search...

पत्नी का आरोप, पति करता है औरतों की तरह श्रृंगार , नहीं बनाता है संबंध

पत्नी का आरोप, पति करता है औरतों की तरह श्रृंगार , नहीं बनाता है संबंध
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मध्य प्रदेश के इंदौर से यह अजीबो गरीब मामले पर इंदौर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है।

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक महिला ने अपने पति पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने पति के खिलाफ कोर्ट में अजीब शिकायत की है। महिला का आरोप है कि उसका पति महिलाओं की तरह सजता-संवरता है। यह भी कहा कि पति युवकों के साथ रहता है। उनके ग्रुप के सभी लोग लड़कियों की तरह रहते हैं।महिला ने लगाया आरोप, पति नहीं बनाता है संबंधमहिला ने बताया कि शादी से पहले दो साल तक दोनों के बीच अफेयर था। अलग-अलग जाति के थे, इस कारण श...

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक महिला ने अपने पति पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने पति के खिलाफ कोर्ट में अजीब शिकायत की है। महिला का आरोप है कि उसका पति महिलाओं की तरह सजता-संवरता है। यह भी कहा कि पति युवकों के साथ रहता है। उनके ग्रुप के सभी लोग लड़कियों की तरह रहते हैं।

महिला ने लगाया आरोप, पति नहीं बनाता है संबंध

महिला ने बताया कि शादी से पहले दो साल तक दोनों के बीच अफेयर था। अलग-अलग जाति के थे, इस कारण शुरुआत में परिवारों ने विरोध किया। बाद में शादी करवा दी। शादी के बाद मैं पति के साथ पुणे चली गई। वहां जाने पर पता चला कि पति कुछ युवकों के साथ रहता है। इस ग्रुप के सभी लोग महिलाओं की तरह रहते हैं। पति रोज शाम ढलते ही माथे पर बिंदिया, हेयर बैंड, कान में बाली पहनने के साथ होठों पर लिपस्टिक लगाकर सजता-संवरता है। मुझे छोड़कर दूसरे कमरे में जाकर अकेला सो जाता है। यह बात परिवार को बताई, तो परिजनों ने इंदौर आने को कहा। पति पुणे में ही रहने की जिद करता रहा। एक दिन शृंगार करने के बाद वे मेरे पास आए और गुप्तांग में चोट पहुंचा दी। पति पुणे में छोटी-मोटी जरूरतों के लिए रुपये की मांग करने लगा। उसने पति-पत्नी की तरह संबंध ही नहीं बनाए। 2020 में वह अपनी पत्नी को बहन की तबीयत खराब होने का हवाला देकर इंदौर छोड़ गया। पत्नी ने वकीलों के माध्यम से कुछ सबूत भी कोर्ट के सामने पेश किए। इसकी जांच महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कराई गई। यह जांच रिपोर्ट भी कोर्ट में पेश की गई।

कोर्ट ने सुनाया फैसला

वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पति, सास और ननद को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया, लेकिन फिर पीड़िता को जीवनयापन की समस्या आने लगी. इसके बाद उसने कोर्ट के समक्ष आवेदन लगाकर पति की करतूतों के बारे में जानकारी दी और हर्जाने की मांग की. वहीं कोर्ट ने इस पूरे मामले में सुनवाई करते हुए प्रतिमाह 30 हजार रुपए पीड़िता को देने के आदेश दिया है. पीड़िता ने कोर्ट के सामने पति की करतूतों के कुछ वीडियो भी साक्ष्य के तौर पर रखे थे, जिसके आधार पर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया।

Satyapal Singh Kaushik
Next Story
Share it