Top
Begin typing your search...

यहां होलिका दहन में भस्म होगा 'कोरोनासुर'

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इन निर्देशों के अनुसार हर व्यक्ति अपने हाथ साबुन-पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब से साफ करें।

यहां होलिका दहन में भस्म होगा कोरोनासुर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई। इस बार होली का पर्व 10 मार्च 2020 को मनाया जाएगा. इस दिन लोग एक दूसरे को रंग लगाकर होली मनाते हैं. हालांकि रंग वाली होली से पहले होलिका दहन किया जाता है। लेकिन आज होलिका दहन के मौके पर मुंबई में कोरोना वायरस का पुतला लगाया गया है जिसको 'कोरोनासुर' नाम दिया है।

बतादें कि दुनिया के 81 से ज्यादा देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं। दुनिया भर के वैज्ञानिक इसके इलाज की दवा खोजने में लगे है, लेकिन अभी तक कोई कारगर खोज नहीं हो सकी है। हालांकि इस बीमारी के लक्षण और बचने के तरीकों के बारे में दुनिया प्रचार-प्रसार में जुटी है, ताकि लोग इसकी चपेट में आने से बचाया जा सकें। आखिर क्या है कोरोना वायरस, जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय-


क्या है कोरोना वायरस-

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। डब्लूएचओ के अनुसार, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है।

क्या हैं इसके लक्षण

कोरोना वायरस के लक्षण स्वाइन फ्लू जैसे हैं। इसके संक्रमण के फलस्वरूप नाक बहना, बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, सिर में तेज दर्द, निमोनिया, ब्रॉन्काइटिस और गले में खराश जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

कहां से फैलना शुरू हुआ वायरस

यह वायरस सबसे पहले चीन के वुहान शहर से फैलना शुरू हुआ। इसके बाद इससे पीड़ित मरीज थाईलैंड, सिंगापुर, जापान में भी मिल रहे हैं। हाल ही में इंग्लैंड में भी एक परिवार के इस वायरस की चपेट में आने की जानकारी सामने आई है।

बरतें जरूरी सावधानियां

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इन निर्देशों के अनुसार हर व्यक्ति अपने हाथ साबुन-पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब से साफ करें।

-खांसते या छींकते हुए अपनी नाक और मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढकें। जिन्हें सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हों उनके साथ करीबी संपर्क बनाने से बचें।

-मीट व अंडों को खाने से पहले अच्छे से पकाएं। जंगली और खेतों में रहने वाले जानवरों के साथ असुरक्षित संपर्क न बनाएं।

-भीड़भाड़ वाली जगह पर न जाएं, खास तौर पर चीन से सफर कर लौटे व्यक्ति से दूर रहें। सब्जी और फलों को खाने से पहले अच्छी तरह धोएं।

-जिन देशों या जगहों पर इस बीमारी का प्रकोप फैला है, वहां यात्रा करने से बचें। सार्वजनिक स्थानों, सार्वजनिक यातायात के साधनों में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it