Begin typing your search...

वारिस पठान के बाद AIMIM के एक और विधायक ने उगला जहर, हमने चूड़ियां नहीं पहनी, हमारी शराफत है कि...

वारिस पठान के बाद AIMIM के एक और नेता विधायक मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल ने महाराष्ट्र के मालेगांव में कहा, अगर हम अमन-ओ-अमान रखना जानते हैं तो ये कैसे जाएगा, ये भी पता है. यह हमारी शराफत है कि हम शांत बैठे हैं.

वारिस पठान के बाद AIMIM के एक और विधायक ने उगला जहर, हमने चूड़ियां नहीं पहनी, हमारी शराफत है कि...
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भड़काऊ बयानों से दिल्‍ली में हिंसा का दंश देख चुके नेताओं का मन अभी भरा नहीं है. तभी तो अब भी भड़काऊ बयान दिए जा रहे हैं. वारिस पठान (Waris Pathan) के बाद AIMIM के एक और नेता विधायक मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल ने महाराष्ट्र के मालेगांव में कहा, ''अगर हम अमन-ओ-अमान रखना जानते हैं तो ये कैसे जाएगा, ये भी पता है. यह हमारी शराफत है कि हम शांत बैठे हैं." इससे पहले AIMIM नेता वारिस पठान ने हिन्‍दुओं को लेकर भड़काऊ बयान दिया था.

मालेगांव की एक रैली में मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल बोले, 'मेरा सवाल है कि शहर में गोली चलती है, तो कोई केस क्यों दर्ज नहीं किया गया. क्या शहर के लोग बेवकूफ हैं, गोली चलती है और एफआईआर दर्ज नहीं होती. हम भी समझते हैं कि क्या हालात हैं. अगर इस तरह होता रहा तो शहर की अवाम खामोश नहीं बैठेगी.' हालांकि, बयान देने के बाद अपनी सफाई में विधायक बोले, मैंने देश को लेकर नहीं, बल्‍कि शहर के मसले पर बयान दिया था.



इससे पहले AIMIM नेता वारिस पठान ने कर्नाटक के कलबुर्गी की रैली को संबोधित करते हुए कहा था, मुसलमानों की संख्या अभी 15 करोड़ है, लेकिन ये 15 करोड़ 100 करोड़ पर भारी हैं, अगर 15 करोड़ साथ में आ गए, तो सोच लो 100 करोड़ का क्या होगा? पठान ने CAA के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं को शेरनियां कहते हुए कहा, 'हिंदुओं को हिलाना है न, मोदी-अमित शाह की तख्त को गिराना है न? तो आवाज ऐसी बनानी है कि यहां से निकले और सीधे दिल्ली के अंदर गिरे. हम ईंट का जवाब पत्‍थर से देना जानते हैं.'

वारिस पठान के बयान को लेकर कलबुर्गी में मुकदमा दर्ज किया गया है. कलबुर्गी के भाजपा महिला मोर्चा उपाध्यक्ष और अधिवक्ता श्‍वेता सिंह ने वारिस पठान के खिलाफ ग्रामीण पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी. उनकी शिकायत पर वारिस पठान के खिलाफ आईपीसी की धारा 117, 153 और 153ए के तहत कलबुर्गी ग्रामीण थाना पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it