Begin typing your search...

चुनाव आयोग पहुंची महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई, अविश्वास प्रस्ताव खारिज, सड़कों पर उपद्रव शिंदे के सांसद बेटे के ऑफिस में तोड़फोड़, मुंबई में धारा 144

पुणे में हिंसा को देखते हुए मुंबई में धारा 144 लागू कर दी गई है।

चुनाव आयोग पहुंची महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई, अविश्वास प्रस्ताव खारिज, सड़कों पर उपद्रव शिंदे के सांसद बेटे के ऑफिस में तोड़फोड़, मुंबई में धारा 144
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

महाराष्ट्र में शिवसैनिकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया है। एकनाथ शिंदे के समर्थक विधायक 58 वर्षीय तानाजी शिंदे के कार्यालय में तोड़फोड़ हुई है। साथ ही उनके कारोबार को भी नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने घटना का वीडियो जारी है, जिसमें शिव सैनिक ऑफिस में बुरी तरह से तोड़फोड़ करते नजर आ रहे हैं। शिवसेना कार्यकर्ताओं ने एकनाथ शिंदे के बेटे व कल्याण से सांसद श्रीकांत शिंदे के दफ्तर पर तोड़फोड़ की है। ठाणे के उल्हासनगर इलाके के दफ्तर में शिवसैनिकों ने पत्थर फेंके हैं।

बता दें कि तोड़फोड़ शिवसेना सांसद संजय राउत की चेतावनी के कुछ घंटो के बाद की गई है। वहीं, पुणे में हिंसा को देखते हुए मुंबई में धारा 144 लागू कर दी गई है। शुक्रवार को भी शिंदे समर्थक तीन विधायकों के घर और ऑफिस पर हमला हुआ था। इसके बाद राज्य में पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

इधर, राज्य में लगातार हो रही हिंसा के बाद एकनाथ शिंदे ने कहा है कि विधायकों की सुरक्षा हटा ली गई है, अगर उनके परिवार को कुछ हुआ, तो उसके लिए उद्धव और आदित्य जिम्मेदार होंगे। इस बीच, उद्धव ठाकरे शिवसेना भवन पहुंचे हैं। वे यहां पार्टी वर्किंग कमेटी की मीटिंग लेंगे। सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत गीते और शिवसेना नेता रामनाथ कदम नहीं पहुंचे।

इस बीच डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल ने अविश्वास प्रस्ताव खारिज कर दिया है. इससे बागी गुट का झटका लगा है. एकनाथ शिंदे गुट अब इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करेगा. इस बीच, महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई अब चुनाव आयोग पहुंच गई है. टीम ठाकरे ने आयोग में आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा है कि शिंदे गुट 'बाला साहब' और 'शिवसेना' का नाम इस्तेमाल नहीं कर सकता है.

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it