Begin typing your search...

Bhagat Singh Koshyari: महाराष्ट्रवासियों पर बयान देकर अकेले पड़ गए गवर्नर कोश्यारी, फडणवीस ने कही ये बात

Bhagat Singh Koshyari: महाराष्ट्रवासियों पर बयान देकर अकेले पड़ गए गवर्नर कोश्यारी, फडणवीस ने कही ये बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

महाराष्ट्र (Maharashtra) के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) के महाराष्ट्रवासियों पर दिए एक बयान से हंगामा मच गया है. गवर्नर कोश्यारी ने कहा कि अगर महाराष्ट्र से गुजरातियों और राजस्थानियों को निकाल दिया जाए तो यहां पैसा नहीं बचेगा. इस पर महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि हम राज्यपाल के बयान से सहमत नहीं हैं. मराठी लोगों का महाराष्ट्र के विकास में बहुत योगदान है. देवेंद्र फडणवीस ने आगे कहा कि राज्यपाल क्या बोले वो राज्यपाल ही बताएंगे, लेकिन हम उनके बयान से सहमत नहीं हैं.

गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने क्या कहा?

महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि महाराष्ट्र, खासकर मुंबई और ठाणे से अगर गुजरातियों को निकाल दिया जाए और राजस्थानियों को भी हटा दिया जाए, तो यहां कुछ पैसा नहीं बचेगा. मुंबई देश की आर्थिक राजधानी नहीं रह जाएगी.

उद्धव ठाकरे ने साधा निशाना

वहीं उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी के बयान से मराठी मानुष को चोट पहुंची है. उनकी भावनाएं आहत हुई हैं. राज्यपाल पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं. राज्यपाल पर कार्रवाई होनी चाहिए.

गवर्नर के बयान से गरमाई राजनीति

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी के विवादित बयान से महाराष्ट्र की राजनीति गरमा गई है. बाहर से आकर महाराष्ट्र में बसे लोगों बनाम स्थानीय लोगों के मुद्दे को एक बार फिर से हवा मिल गई है.

बता दें कि साल 1960 में महाराष्ट्र और गुजरात दो नए राज्य बने थे. बॉम्बे प्रेजीडेंसी के दो हिस्से करके इन दोनों राज्यों का निर्माण किया गया था. गुजरात और महाराष्ट्र दोनों अपना स्थापना दिवस 1 मई को मनाते हैं.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it