Begin typing your search...

महाराष्‍ट्र संकट: बागी एकनाथ शिंदे ने बताया सीएम उद्धव की बैठक को 'अवैध'

महाराष्‍ट्र संकट:  बागी एकनाथ शिंदे ने बताया सीएम उद्धव की बैठक को अवैध
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

महाराष्‍ट्र में सियासी संकट गहराता जा रहा है. शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे ने सीएम उद्धव ठाकरे की ओर से आज शाम को बुलाई गई पार्टी विधायकों की बैठक को "अवैध" बताया है. शिंदे ने इस संबंध में एक ट्वीट किया है.गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के आवास पर शाम 5 बजे सभी विधायकों की बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में उठाए जाने वाले कदमों पर सबकी निगाह टिकी हुई है.

गौरतलब है कि एकनाथ शिंदे की अगुवाई में बागियों के तेवरों को देखते हुए शिवसेना की ओर से बैठक का लेटर जारी किया था, जिसमें चेतावनी भरे लहजे में कहा गया कि शाम 5 बजे की इस बैठक में भाग न लेने वालों विधायकों पर कार्रवाई की जाएगी. व्‍हाट्सएप ईमेल और एसएमएस के जरिये भेजे गए इस लेटर में कहा गया है कि शिवसेना ने 'वर्षा' (सीएम उद्धव ठाकरे का आधिकारिक आवास) सभी विधायकों की बैठक बुलाई है. सीएम ठाकरे, जो कि कोविड संक्रमित है, के वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिये इस बैठक की अध्‍यक्षता करने की संभावना है.

इस बीच, शिंदे के समर्थक विधायकों ने राज्‍यपाल और महाराष्‍ट्र विधानसभा के डिप्‍टी स्‍पीकर का पत्र लिखकर आग्रह किया है कि एकनाथ शिंदे, जिन्‍हें शिवसेना ने वर्ष 2019 में विधायक दल का नेता नियुक्‍त किया था, वे इस पद पर बने रहेंगे. इनका यह भी कहना है कि भारत गोगावले को पार्टी का चीफ व्हिप नियुक्‍त किया गया है और वे अभी भी शिवसेना में हैं.

'बागियों' के लेटर में विद्रोही तेवर अख्तियार करने के कारणों का खुलासा किया है. खास बात यह है कि इसमें कहा गया है कि वे इस बात की पुष्टि करते हैं कि शिंदे विधायक दल के नेता हैं. उन्‍होंने भरत गोगावले की चीफ व्हिप के तौर पर नियुक्ति की बात कही. इन्‍होंने सुनील प्रमुख की इस पद पर नियुक्ति को रद्द कर दिया. इस पत्र में निर्दलीय सहित 34 विधायकों के दस्‍तखत हैं.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it