Begin typing your search...

अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी की केंद्रीय मंत्री ने की आलोचना, बोले- इमरजेंसी के दिनों की याद आ गई

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़ेकर ने मुंबई पुलिस के इस कदम की आलोचना की है. उन्होंने इसकी तुलना इमरजेंसी के दिनों से की.

अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी की केंद्रीय मंत्री ने की आलोचना, बोले- इमरजेंसी के दिनों की याद आ गई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: मुंबई पुलिस ने बुधवार की सुबह रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार (Arnab Goswami Arrested) किया है. जानकारी है कि पुलिस ने उन्हें एक इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से खुदकुशी के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़ेकर ने मुंबई पुलिस के इस कदम की आलोचना की है. उन्होंने इसकी तुलना इमरजेंसी के दिनों से की.

प्रकाश जावड़ेकर ने गिरफ्तारी की खबर आने के बाद एक ट्वीट में कहा, 'हम महाराष्ट्र में प्रेस की स्वतंत्रता पर हुए इस हमले की आलोचना करते हैं. प्रेस का साथ बर्ताव करने का यह कोई तरीका नहीं है. इससे हमें इमरजेंसी के दिनों की याद आ रही है, जब प्रेस से ऐसा बर्ताव किया जाता था.'

बता दें कि न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, मुंबई पुलिस ने बताया कि 'रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है.' अर्णब की गिरफ्तारी के लिए मुंबई पुलिस सुबह-सुबह उनके घर पहुंच गई थी.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अलीबाग पुलिस ने गोस्वामी को उनके घर से हिरासत में लिया. अर्णब को पुलिस की वैन में डालते हुए देखा गया. पुलिस के साथ ले जाए जाने से पहले अर्णब ने कहा कि उनके साथ पुलिस ने जोर-जबरदस्ती की है.

क्या है मामला?

पुलिस अधिकारी ने बताया कि 2018 में एक आर्किटेक्ट और उनकी मां ने आत्महत्या कर ली थी. कथित रूप से अर्णब के रिपब्लिक टीवी के ऊपर परिवार के कुछ पैसे बकाए थे. आर्किटेक्ट अन्वय नाईक की बेटी अदन्या नाईक ने फिर से इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद इस साल मई में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने घोषणा की कि इस मामले में फिर से जांच कराई जाएगी.

देशमुख ने कहा था कि अदन्या का आरोप था कि अलीबाग पुलिस ने बकाए वाले मामले की जांच नहीं की थी, जिसके चलते उनके पिता और उनकी दादी ने मई 2018 में खुदकुशी करने का कदम उठा लिया.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it