Top
Begin typing your search...

समीर वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक के खिलाफ ठोका मानहानि का केस, बोले- चरित्र, प्रतिष्ठा को क्षति पहुंची

मानहानि केस में कहा गया है कि मलिक ने पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर वादी और उसके परिवार के सदस्यों के नाम, चरित्र, प्रतिष्ठा और सामाजिक छवि को अपूरणीय क्षति पहुंचाई है.

समीर वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक के खिलाफ ठोका मानहानि का केस, बोले- चरित्र, प्रतिष्ठा को क्षति पहुंची
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ड्रग्स केस को लेकर लगातार एनसीबी, समीर वानखेड़े और उनके परिवार पर निशाना साध रहे हैं. अब समीर वानखेड़े के पिता ध्यानदेव वानखेड़े ने नवाब मलिक के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख करते हुए मानहानि का केस दर्ज किया है. समीर वानखेड़े मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर हैं और आर्यन खान, नवाब मलिक के दामाद समीर खान समेत बॉलीवुड से जुड़े तमाम केसों में जांच अधिकारी थे. हालांकि, हाल ही में उनसे आर्यन खान समेत 6 केस वापस ले लिए गए हैं.

वानखेड़े के वकील अर्शद शेख ने कहा, मलिक वानखेड़े के परिवार को फ्रॉड कह रहे हैं और उनके धर्म पर सवाल उठाते हुए कह रहे हैं कि वे हिंदू नहीं हैं. मलिक रोजाना पूरे परिवार को फ्रॉड कह रहे हैं वे उनकी बेटी यास्मीन के करियर को भी बर्बाद कर रहे हैं, जो क्रिमनल लॉयर है और नारकोटिक्स केस में वकालत नहीं करती.

मानहानि केस में कहा गया है कि मलिक ने पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर वादी और उसके परिवार के सदस्यों के नाम, चरित्र, प्रतिष्ठा और सामाजिक छवि को अपूरणीय क्षति पहुंचाई है. ध्यानदेव की मांग है कि मलिक, उनकी पार्टी के नेताओं और अन्य सभी को उनके और उनके परिवार के खिलाफ मीडिया में कुछ भी आपत्तिजनक, मानहानिकारक सामग्री लिखने, बोलने या प्रकाशित करने पर रोक लगाई जाए.

ध्यानदेव ने अपील की कि हाईकोर्ट यह घोषित करे कि मलिक के बयान, आरोप चाहे लिखित हो या मौखिक या उनके द्वारा या उनके परिवार के द्वारा सोशल मीडिया पर दिए गए हैं, वे प्रकृति में अत्याचारी और मानहानिकारक हैं. इतना ही नहीं ध्यानदेव ने इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया समेत अन्य जगहों पर मौजूद इंटरव्यू और बयानों को हटाने की भी मांग की.

ध्यानदेव ने अपनी शिकायत में कहा कि वानखेड़े पर नवाब मलिक के आरोप उनके दामाद की ड्रग्स केस में गिरफ्तारी के बाद शुरू हुए. समीर खान को सितंबर में जमानत मिली. इसके बाद से मलिक हर रोज सोशल मीडिया या प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मुद्दे को लेकर वानखेड़े को घेर रहे हैं. ध्यानदेव ने नवाब मलिक पर 1.25 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा ठोका है. इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it