Top
Begin typing your search...

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जारी है ये एडवांस सेवा आप भी उठा सकते है लाभ

कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने आगामी 14 अप्रैल तक सभी मेल-एक्सप्रेस बंद कर दी हैं, लेकिन ई-टिकट बुकिंग के लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट को बंद नहीं किया गया है।

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जारी है ये एडवांस सेवा आप भी उठा सकते है लाभ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने आगामी 14 अप्रैल तक सभी मेल-एक्सप्रेस बंद कर दी हैं, लेकिन ई-टिकट बुकिंग के लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट को बंद नहीं किया गया है। इसलिए आम जनता देश में 21 दिन का लॉकडाउन समाप्त होने पर 15 अप्रैल का रेल टिकट एडवांस में कभी भी बुक करा सकती है।

रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन के चलते इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म (आईआरसीटीसी) से ई-टिकट बुक कराने को लेकर आम लोगों में भ्रम है। जनता को लगता है कि देशभर में 13,524 ट्रेन ठप होने से वेबसाइट को भी बंद कर दिया गया है। हकीकत यह है कि 22 मार्च से 21 दिन का लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद सभी यात्री ट्रेन बंद कर दी गईं, लेकिन आईआरसीटीसी की वेबसाइट को कभी बंद नहीं किया गया।

14 अप्रैल की रात 12 बजे के बाद 12 बजकर 1 मिनट से ट्रेनों का परिचालन शुुरु होने की संभावना है। रेलवे के नियम में रात 12 बजकर 1 मिनट पर दूसरा दिन शुरु हो जाता है, इसके अनुसार 15 अप्रैल से यात्री ट्रेनों के परिचालन और उसमें जाने वाले वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने अब तक आरक्षण कार्यालय को बंद रखा हुआ है। दूसरी ओर आईआरसीटीसी ने आरक्षण कार्यालय बंद होने के बाद यात्रियों को 15 अप्रैल से चलने वाली ट्रेनों के लिए ई-टिकिट बुकिंग करने की सुविधा दे दी है, ताकि लॉक डाउन में लोग घर में बैठे आनलाइन का फायदा ले सकें।

नियमत: आरक्षित टिकट की बुकिंग 120 दिन (चार माह) पहले बुक कराने का प्रावधान है। वर्तमान में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है और 15 अप्रैल से ट्रेन के चलने की संभावना है। इसलिए यात्री 15 अप्रैल का टिकट एडवांस में बुक करा रहे हैं, यदि लॉकडाउन की अवधि बढ़ती है तो एडवांस बुक किए गए टिकट स्वत: रद्द कर दिए जाएंगे। ऐसी स्थिति में आईआरसीटीसी रेल किराए का पैसा यात्री के बैंक खाते में सीधे भेज देगा। इसके लिए यात्री को टिकट रद्द कराने की प्रक्रिया नहीं करनी होगी।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it