Begin typing your search...

असम-मेघालय सीमा पर हिंसक झड़प, फायरिंग में 6 की मौत, VIDEO वायरल होने के बाद हिंसा भड़की, 7 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सस्पेंड

रने वालों मेघालय के 5 लोग और एक फॉरेस्ट गार्ड शामिल है.

असम-मेघालय सीमा पर हिंसक झड़प, फायरिंग में 6 की मौत, VIDEO वायरल होने के बाद हिंसा भड़की, 7 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सस्पेंड
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

असम और मेघालय के बीच एक बार फिर सीमा विवाद को लेकर हिंसक झड़प सामने आई है. ताजे विवाद में हुई फायरिंग में 6 लोगों की मौत हो गई है. मरने वालों मेघालय के 5 लोग और एक फॉरेस्ट गार्ड शामिल है. घटना कोई बड़ा रूप न ले ले. इसलिए मेघालय सरकार ने एहतियातन 7 जिलों में 48 घंटे तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी है.

इस घटना में मरने वाले 5 लोग मेघायल के हैं। खबर फैलते ही मेघालय के 7 जिलों में हिंसा भड़क गई। इसके बाद मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा के आदेश पर इन जिलों में 48 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। इनमें पश्चिम जयंतिया पहाड़ियां, पूर्वी जयंतिया पहाड़ियां, पूर्वी खासी पहाड़ियां, री-भोई, पूर्वी पश्चिम खासी पहाड़ियां, पश्चिम खासी पहाड़ियां और दक्षिण-पश्चिम खासी पहाड़ियां शामिल हैं।

मेघालय के CM ने हादसे को दुखद बताते हुए मृतकों के परिवार के प्रति संवेदनाएं जताईं। उन्होंने कहा कि घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जो भी हुआ बहुत दुखद है। घटना की FIR मेघालय पुलिस ने दर्ज कर ली है। इसकी जांच कराई जाएगी।

वीडियो वायरल होने से भड़की हिंसा

मंगलवार सुबह हुई फायरिंग में छह लोगों की मौत की सूचना सोशल मीडिया से फैली। इसके बाद मेघालय के सात जिलों में हिंसा शुरू हो गई। कानून व्यवस्था बिगड़ती देख इंटरनेट बंद कर दिया गया। अगले 48 घंटे तक वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर, यू-ट्यूब बंद रहेंगे। पुलिस ने इन जिलों में फोर्स बढ़ा दी है।

इसी साल सुलझा था 50 साल पुराना असम-मेघालय सीमा विवाद, अमित शाह की मौजूदगी में हुआ था करार

बता दें कि 29 मार्च 2022 को असम और मेघालय के बीच 50 साल से चले आ रहे सीमा विवाद पर गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में समझौता हुआ था. असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा, सांसद दिलीप सेकिया और मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने राजधानी दिल्ली में गृहमंत्री शाह से मुलाकात की थी. इस दौरान सीमा विवाद का हल निकालने के लिए एक करार किया गया था. इस दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि दोनों राज्यों की 70 प्रतिशत सीमा आज विवाद से मुक्त हो गई. दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री ने बताया कि आगे का विवाद भी हम बातचीत के जरिए सुलझा लेंगे. उन्होंने कहा कि आज बहुत बड़ा काम हुआ है. शाह ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री और उनकी टीम को पीएम मोदी और भारत सरकार की तरफ से धन्यवाद कहा था. उन्होंने कहा था कि विकसित नॉर्थ ईस्ट का जो सपना पीएम मोदी ने देखा है, वह जल्द ही साकार होगा.

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it