Top
Begin typing your search...

बहुत बड़ी खबर: चीन के साथ झड़प में हमारे 20 सैनिक शहीद - सरकार के सूत्र

बहुत बड़ी खबर: चीन के साथ झड़प में हमारे 20 सैनिक शहीद - सरकार के सूत्र
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अभी अभी बड़ी खबर सामने आई है जब चीन की सीमा पर चीन के साथ झड़प में हमारे 20 सैनिक शहीद होने के खबर मिली है. इस खबर से देश में सभी सोच में पड़ गए जबकि सुबह तीन लोंगों के शहीद होने की खबर आई है. अब न्यूज एजेंसी एएनआई से भी खबर मिली है.

बीस सैनिकों की सहादत से देश में हडकम्प मच गया है. अभी अभी सरकार ने हिमाचल की सीमा पर अलर्ट कर दिया गया है, जबकि लगातार सिक्किम की सीमा पर पहले से ही अलर्ट बना हुआ है. बीस सैनिकों की शहीद होने से देश सोच में पड़ गया.

जबकि सीमा पर चीन से बातचीत की बात कही जा रही है. लेकिन इस दौरान यह खबर सबको हिला देगी. अभी थोड़ी देर पहले सेना अध्यक्ष ने रक्षा मंत्री से मुलाकात की. उसके बाद विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री की मुलाकात हुई. फिर विदेश मंत्री और पीएम की मुलकात भी हुई. उसके बाद अभी थोड़ी देर पहले ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पीएम मोदी के निवास पर गये है. तब अटक यह खबर सामने आना बड़ी बात है.

चीन ने भारत को 45 साल बाद फिर धोखा दिया है। सोमवार रात लद्दाख की गालवन वैली में बातचीत करने गई चीन की सेना ने भारत की सेना पर हमला कर दिया। गोली एक भी नहीं चली, लेकिन चीन के सैनिकों ने पत्थरों, लाठियों और धारदार चीजों से हमला बोल दिया। इसमें भारत के कमांडिंग ऑफिसर समेत 20 सैनिक शहीद हो गए।

यह झड़प दुनिया की दो एटमी ताकतों के बीच लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गालवन वैली में हुई। उसी गालवन वैली में, जहां 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी। भारत ने चीन की तरफ हुई बातचीत इंटरसेप्ट की है। इसके मुताबिक, चीन के 43 सैनिक हताहत होने की खबर है, लेकिन चीन ने यह कबूला नहीं है।

45 साल पहले चीन ने ऐसे ही धोखा दिया था

20 अक्टूबर 1975 को अरुणाचल प्रदेश के तुलुंग ला में चीन ने असम राइफल की पैट्रोलिंग पार्टी पर धोखे से एम्बुश लगाकर हमला किया था। इसमें भारत के 4 जवान शहीद हुए थे। इसके 45 साल बाद चीन बॉर्डर पर हमारे सैनिकों की शहादत हुई है।

जो शहीद हुए हैं, उनमें 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू शामिल हैं। दो अन्य नामों की पुष्टि हुई है। ये हैं- हवलदार पालानी और सिपाही कुंदन झा। बाकी नाम अभी सामने नहीं आए हैं।


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it