Begin typing your search...

धनतेरस पर जमकर बरसा धन: 27 हजार करोड़ रु. करोड़ का बिका सोना-चांदी, खुदरा बाजारों में 50,000 करोड़ रुपये का हुआ कारोबार!

इस धनतेरस पर हुई रिकाॅर्ड खरीदारी से पिछले साल का रिकाॅर्ड भी टूट गया।

धनतेरस पर जमकर बरसा धन: 27 हजार करोड़ रु. करोड़ का बिका सोना-चांदी, खुदरा बाजारों में 50,000 करोड़ रुपये का हुआ कारोबार!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Dhanteras 2023 : शुक्रवार को पूरे देश में धनतेरस पर्व मनाया गया। बाजार में सुबह से ही लोगों की भीड़ लगना शुरू हो गई थी। दोपहर होते-होते पैर रखने तक की जगह नहीं थी। कुल मिलाकर बाजार में सुबह से रात तक खरीदी का दौर चलता रहा। सबसे अधिक वाहन, आभूषण व बर्तनों की बिक्री हुई है। अन्य सामान भी लोगों द्वारा खरीदा गया। धनतेरस से पांच दिवसीय पर्व की शुरुआत हो गई हैं। अब पांच दिनों तक बाजार में रौनक बनी रहेगी। लोग अपनी जरूरत की चीजों की खरीदारी करेंगे। शुक्रवार को तो सुबह से ही बाजार में दुकानें सजा दी गई थी। दुकानों के अलावा फुटपाथ पर भी छोटे व्यापारियों ने अपनी दुकानें लगाई। लोगों ने दिल खोलकर खरीदी की।

इस धनतेरस पर हुई रिकाॅर्ड खरीदारी से पिछले साल का रिकाॅर्ड भी टूट गया। धनतेरस पर देशभर के बाजारों में जबरदस्त रौनक रही। ऑल इंडिया ज्वैलर्स फेडरेशन के अनुसार धनतेरस पर पूरे देश में लगभग 27 हजार करोड़ रुपये का सोना लोगों ने खरीदा।

ऑल इंडिया ज्वेलर्स फेडरेशन के अध्यक्ष पंकज अरोड़ा ने बताया कि धनतेरस पर सोने-चांदी और अन्य कीमती वस्तुओं का लगभग 30 हजार करोड़ का कारोबार हुआ। इस दौरान लगभग 27 हजार करोड़ रुपये के तो केवल सोने के आभूषण बिके। वहीं लगभग 3 हजार रुपये के चांदी के आभूषण बिके। बता दें कि 2022 में धनतेरस पर सोने-चांदी का 25 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था।

400 टन चांदी की हुई बिक्री

गौरतलब है कि 2022 में 10 ग्राम सोने का दाम 52 हजार रुपये था। जबकि इस बार यह 62 हजार रुपये बिक रहा है। वहीं चांदी पिछली दीवाली पर 58 हजार रुपये प्रति किलो के दाम पर बिकी थी जो कि इस वर्ष 72 हजार रुपये किलो पर बिकी है।

हुंडई ने बेची 10 हजार से अधिक कारें

हुंडई इंडिया के सीओओ तरूण गर्ग ने कहा कि कंपनी ने धनतेरस पर लगभग 10 हजार 300 कारें बेची। जो पिछले साल के आंकड़े से दोगुने से भी अधिक है। रिलायंस डिजिटल जैसे ब्रांडों में अच्छी संख्या में ग्राहक आए। वहीं एलजी इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशीष अग्रवाल ने कहा कि बड़े स्क्रीन वाले टीवी की मांग अब तक सबसे ज्यादा बनी हुई है। धनतेरस पर सबसे ज्यादा टीवी 55-इंच 65-इंच और 75 इंच की बिकी । फ्रिज और वॉशिंग मशीन की भी यही स्थिति रही जहां बिक्री पहले की तुलना में अधिक रही।

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) (Confederation of All India Traders (CAIT)) के मुताबिक, धनतेरस पर देशभर के खुदरा बाजारों में 50,000 करोड़ रुपये से अधिक का कारोबार (Turnover of more than Rs 50,000 crore) हुआ। अकेले दिल्ली में 5,000 करोड़ रुपये की खरीद-बिक्री हुई। पिछले धनतेरस पर कुल 35,000 करोड़ का कारोबार हुआ था।

धनतेरस पर इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों की बिक्री पिछले साल की तुलना में 15-20 फीसदी अधिक रही। एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशीष अग्रवाल ने कहा, धनतेरस पर सभी शहरों में अच्छी भीड़ देखने को मिली। पिछले धनतेरस के मुकाबले विभिन्न श्रेणी के उत्पादों में 15 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है। गोदरेज अप्लायंसेस बिजनेस के प्रमुख कमल नंदी ने बताया कि इस बार प्रीमियम इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों की मांग बढ़ी है। मूल्य के लिहाज से देखें तो इन उत्पादों की बिक्री पिछले साल से 20-25 फीसदी बढ़ी है।

Arun Mishra
Next Story