Top
Begin typing your search...

डॉ कुमार पर है जनता को गहरा विश्वास, मांग रहे ऑक्सीजन, बेड और प्लाज्मा

डॉ कुमार विश्वास ने एक वीडियो जारी करके लोंगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की है.

डॉ कुमार पर है जनता को गहरा विश्वास, मांग रहे ऑक्सीजन, बेड और प्लाज्मा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

देश इस समय कोरोना जैसी भयंकर महामारी की चपेट में है. देश में त्राहि त्राहि मची हुई है तो ऐसे समय में जो जनता के लिए अपने दरवाजे खोल दे वही व्यक्ति इस समय जनता का भगवान है. इस सब प्रक्रिया में जिस डॉ कुमार और उनकी टीम ने जो काम किया है और हजारों लोंगों के लिए देवदूत बनकर काम कर रहे है वो काबिलेतारीफ है.

डॉ कुमार विश्वास पर आज दिल्ली एनसीआर की नहीं बल्कि देश विदेश की जनता विश्वास करके उन्हें अपनी परेशानी बता रही है. डॉ कुमार उस पीड़ित व्यक्ति को हर संभव मदद देने के काम अपनी पूरी टीम के साथ जुटे हुए है. आज जनता डॉ कुमार पर तो विश्वास जता रही है लेकिन नेताओं पर नहीं. क्यों?

डॉ कुमार ने कहा कि सहमत हूँ किंतु इस सूची में, मेरे नाम के आगे से "नेता" हटाओ क्रांति. मैं तो प्रत्येक क्रांति में सम्भाव्य अकिंचन कवि हूँ जो बिना किसी दल केवल दिल से भिड़ा पड़ा हूँ इस चीनी दैत्य से. हार जीत देखी जाएगी पर कम से कम न मैदान छोड़ रहे, न पीठ दिखा रहे.

डॉ कुमार ने कहा कि जो भी लोग साथ आए है उन्हें ईश्वर के काम में सहभागी बनने पर बधाई किंतु अभी तो बहुत सारे लोग आपकी प्रतीक्षा कर रहे है. प्रिय प्लाज़्मा डोनर्स किसी की टूटती साँसें आपकी प्रतीक्षा कर रही हैं. आपका दान एक व्यक्ति की जान बचा सकता है. इस तरह की भावुक अपील से लोग प्लाज्मा डोनेट करने आने शुरू हुए है.

कुमार विश्वास ने बताया कि दिन-रात लोग उनसे सोशल मीडिया पर कांटेक्ट करते हैं और मदद के लिए कहते हैं. उनका कहना है कि मदद के लिए उनकी टीम दिन-रात काम कर रही है. अपना दर्द बयां करते हुए कुमार बताते हैं कि हाल ही में उन्होंने उत्तर प्रदेश के एक आईएएस अफसर को मदद के लिए फोन किया, तो आईएएस अफसर ने बोल दिया कि आप कौन से विधायक मंत्री हैं जो मैं आपकी बात मान लूं.

उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन बेड से लेकर वेंटिलेटर को फैक्ट्री द्वारा बनाया जाता है. अस्पताल को सरकार बनाती है, लेकिन हौसला हम खुद बनाते हैं और खून भी हम खुद बनाते हैं. इसी तरह से प्लाज्मा हम खुद ही बनाते हैं. उन्होंने अपील की थी कि जिन लोगों को पिछले 3 महीने में कोरोना हुआ और वे ठीक हो चुके हैं वे आगे आएं और प्लाज्मा डोनेट करें.उन्होंने कहा था कि उनकी सोशल मीडिया टीम इस पर काम कर रही है. सभी प्लाज्मा डोनेट करने वाले लोग उनसे जुड़ कर एक प्लेटफार्म पर आ सकते हैं. जहां से उनकी टीम जरूरतमंदों तक प्लाज्मा पहुंचा देगी. कुमार विश्वास की यह मुहिम रंग भी ला रही है. कुमार के ट्विटर हैंडल पर बहुत से लोग इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि उन्हें कुमार की मुहिम की वजह से प्लाज्मा डोनर मिल पाया.

कुमार विश्वास ने खुद बताया कि पिछले कई दिनों में उन्होंने कई अस्पताल के संचालकों को फोन किया और लोगों के लिए बेड की व्यवस्था करने के लिए आग्रह किया. ज्यादातर जगहों पर मदद हो पाई, लेकिन उन्होंने कहा कि बाद में कई अस्पताल के मालिकों ने उनका फोन तक उठाना बंद कर दिया, जिससे वह खुद को काफी असहाय महसूस कर रहे थे, लेकिन हौसला नहीं हारे. उन्होंने कहा कि मैं सरकारी सिस्टम के बारे में कुछ नहीं कहूंगा. कुमार विश्वास कहते हैं कि इस समय जो भी बीजेपी, कांग्रेस या आम आदमी पार्टी की बात करके आपदा पर राजनीति करता मिले, उसे अपनी लाइफ से डिलीट कर दीजिए.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it