Begin typing your search...

आजाद भारत में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने ली राष्ट्रपति पद की शपथ

आजाद भारत में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने ली  राष्ट्रपति पद की शपथ
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

आदिवासी समुदाय से आने वाले देश की पहली और देश की दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं मुर्मू

भगवान जगन्नाथ की धरती उड़ीसा में जन्मी, आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाली,आजाद भारत में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने आज देश के 15 वें राष्ट्रपति पद की शपथ ले लीं, राष्ट्रपति भवन के सेंट्रल हॉल में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमना ने उन्हें राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई। जानिए अपने उद्बोधन में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने क्या कहाराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा, 'जोहार! नमस्कार! मैं भारत के समस्त ...

भगवान जगन्नाथ की धरती उड़ीसा में जन्मी, आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाली,आजाद भारत में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने आज देश के 15 वें राष्ट्रपति पद की शपथ ले लीं, राष्ट्रपति भवन के सेंट्रल हॉल में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमना ने उन्हें राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई।


जानिए अपने उद्बोधन में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने क्या कहा

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा, "जोहार! नमस्कार! मैं भारत के समस्त नागरिकों की आशा-आकांक्षा और अधिकारों की प्रतीक इस पवित्र संसद से सभी देशवासियों का पूरी विनम्रता से अभिनंदन करती हूं। आपकी आत्मीयता, विश्वास और आपका सहयोग, मेरे लिए इस नए दायित्व को निभाने में मेरी बहुत बड़ी ताकत होंगे।"

शपथ ग्रहण के दौरान मुर्मू ने कहा मेरा सौभाग्य है कि मुझे स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में सेवा करने का अवसर मिला है। मैं स्वतंत्र भारत में जन्म लेने वाली पहली राष्ट्रपति हूं।

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर निर्वाचित करने के लिए मैं सभी सांसदों और सभी विधानसभा सदस्यों का हार्दिक आभार व्यक्त करती हूं। आपका मत देश के करोड़ों नागरिकों के विश्वास की अभिव्यक्ति है।

मैं छोटे से गांव से आती हूं और वहां प्राथमिक शिक्षा हासिल करना भी कठिन है। मैं इस स्तर तक शिक्षा पाने वाली पहली व्यक्ति हूं। राष्ट्रपति के रूप में मेरा चुना जाना केवल मेरी उपलब्धि नहीं है, बल्कि देश के सभी लोगों की उपलब्धि है, जो वे इस स्तर तक पहुंचने का सपना देख सकते हैं।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा,"मेरे लिए बहुत संतोष की बात है कि जो सदियों से वंचित रहे, जो विकास के लाभ से दूर रहे, वे गरीब, दलित, पिछड़े और आदिवासी मुझ में अपना प्रतिबिंब देख रहे हैं। मेरे इस निर्वाचन में देश के गरीब का आशीर्वाद शामिल है, देश की करोड़ों महिलाओं और बेटियों के सपनों और सामर्थ्य की झलक है।"

प्रधानमंत्री समेत ये लोग रहे उपस्थित

इस अवसर पर मुख्य रूप से पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद,उपराष्ट्रपति वैंकैया नायडू, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह,सोनिया गांधी,राज्यों के राज्यपाल,मुख्यमंत्री और मंत्रिपरिषद के सदस्य मौजूद रहे।


Satyapal Singh Kaushik
Next Story
Share it