Top
Begin typing your search...

रत्न एवं आभूषण क्षेत्र से करीब 50 लाख लोगों को रोजगार : अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि इससे न केवल उद्योग को सुधार में मदद मिलेगी, बल्कि निर्यात भी तेजी से बढ़ेगा।

रत्न एवं आभूषण क्षेत्र से करीब 50 लाख लोगों को रोजगार : अनुप्रिया पटेल
X

अनुप्रिया पटेल : प्रतीकात्मक फोटो

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पीआईबी, नई दिल्ली : रत्न एवं आभूषण क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है, जिसका सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 7 प्रतिशत का योगदान है, देश के कुल व्यापारिक निर्यात में 10-12 प्रतिशत हिस्सेदारी है और रोजगार सृजन के मामले में अग्रणी क्षेत्रों में से एक है, जो 50 लाख कुशल और अर्ध-कुशल लोगों को रोजगार प्रदान करता है।

वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि उन्हें यह जानकर प्रसन्नता हो रही है कि देश में कच्चे माल घरेलू उत्पादन के बिना, भारत हीरे के निर्माण और निर्यात में एक अग्रणी देश के रूप में उभरने के साथ-साथ स्वर्ण आभूषण, चांदी के आभूषण, रंगीन रत्न-पत्थरों और सिंथेटिक पत्थरों जैसे उद्योग के अन्य क्षेत्रों में सबसे बड़े निर्यातकों में से एक के रूप में भी उभरा है। रत्न एवं आभूषण क्षेत्र प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण 'मेक इन इंडिया' का एक आदर्श उदाहरण है।

वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री ने बताया कि भारत में कोविड-19 महामारी के दौरान रत्न एवं आभूषण क्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में से एक रहा है और देश में पूर्ण लॉकडाउन की स्थिति के कारण अप्रैल 2020 में इसके निर्यात में (-) 98 प्रतिशत की रिकॉर्ड गिरावट देखी गई।

अनुप्रिया पटेल कहा कि उन्हें भरोसा है कि इससे न केवल उद्योग को सुधार में मदद मिलेगी, बल्कि निर्यात भी तेजी से बढ़ेगा। इससे उद्योग को इस वर्ष 43.75 बिलियन अमरीकी डॉलर के निर्यात लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी और साथ ही आने वाले वर्षों में रत्न एवं आभूषण के निर्यात को 75 बिलियन अमरीकी डॉलर तक ले जाने के जीजेईपीसी के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it