Begin typing your search...

निठारी कांड के आरोपी सुरेंद्र कोली एक केस में हुआ बरी, 12 मामलों में हुई फांसी की सजा

नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड केस में मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली को आज शुक्रवार को एक केस में बड़ी कर दिया गया है| एक मासूम बच्चे का अपहरण और हत्या से जुड़े मामले में सीबीआई कोर्ट ने सुरेंद्र कोली को बरी कर दिया।

निठारी कांड के आरोपी सुरेंद्र कोली एक केस में हुआ बरी, 12 मामलों में हुई फांसी की सजा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड केस में मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली को आज शुक्रवार को एक केस में बड़ी कर दिया गया है| एक मासूम बच्चे का अपहरण और हत्या से जुड़े मामले में सीबीआई कोर्ट ने सुरेंद्र कोली को बरी कर दिया। सुरेंद्र कोली को अभी जेल में ही रहना होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गाजियाबाद स्थित स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने 6 साल के बच्चे के अपरहरण, हत्या और शव छुपाने से जुड़े केस में सबूतों के अभाव में सुरेंद्र कोली को बरी कर दिया। बता दें कि मासूम बच्चा नोएडा के निठारी गांव से साल 2006 में लापता हो गया था। इसके बाद उसके परिजनों ने नोएडा के सेक्टर-20 थाने में उसके अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था।

बता दें कि स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने निठारी कांड के 14वें मामले में मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली को शुक्रवार को बरी कर दिया। कोर्ट ने कोली को पुख्ता साक्ष्यों के अभाव में बरी किया है। बता दें कि निठारी कांड में कोली के खिलाफ कुल 17 मामले दर्ज हैं, जिनमें से अब तक 12 मामलों में सीबीआई कोर्ट उसे फांसी की सजा सुना चुकी है।

बता दें कि इससे पहले बीते साल 25 मार्च 2021 को 13वें मामले में भी कोर्ट ने कोली को बरी कर दिया था। कोर्ट ने कोली को सबूतों के अभाव में बरी किया है। आरोपी सुरेंद्र कोली पर इस मामले में बच्ची की हत्या, दुष्कर्म और शव नाले में फेंकने का आरोप लगाया गया था। सीबीआई ने बच्चियों के लापता होने और हत्या कर शव छुपाने के मामले में मुकदमा दर्ज किया था। जिसके बाद छानबीन के बाद डी-5 कोठी मालिक मोनिंदर सिंह पंढेर और नौकर सुरेंद्र कोली को गिरफ्तार करके सीबीआई ने बड़ा खुलासा किया था। बता दें कि आरोप लगाया गया था कि इन लोगों ने मासूम और नाबालिग बच्चियों का अपहरण कर दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी थी और फिर शवों को डुकड़ों में कर नाले में फेंका गया था।

Sakshi
Next Story
Share it