Top
Begin typing your search...

पेगासस जासूसी कांड: सदन में कांग्रेस ने केंद्र सरकार को घेरा,जाँच की उठाई मांग

राज्यसभा सदस्य अखिलेश सिंह ने कहा, "प्रधानमंत्री में अगर जरा भी नैतिकता बची है तो वह तुरंत पेगासस स्पाइवेयर जासूसी कांड की जांच कराएं

पेगासस जासूसी कांड: सदन में कांग्रेस ने केंद्र सरकार को घेरा,जाँच की उठाई मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print


नई दिल्ली: पेगासस जासूसी कांड को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है.वही संसद के मॉनसून सत्र में फ़ोन टेपिंग का मुद्दा लगातार गरमाया हुआ है.सोमवार को फिर संसद में फ़ोन हैकिंग को लेकर कर जमकर हंगामा हुआ.इस बीच सदन में विपक्षी दलों ने जमकर नारेबाजी और हंगामा किया.जिसके चलते संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा. समूचा विपक्ष पेगासस जासूसी कांड मामले की जांच पर अड़ा है.

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य अखिलेश सिंह ने कहा, "प्रधानमंत्री में अगर जरा भी नैतिकता बची है तो वह तुरंत पेगासस स्पाइवेयर जासूसी कांड की जांच कराएं. जब जांच होगी तभी सच सामने आएगा. आज राज्यसभा में सभी विपक्षी दलों ने पेगासस स्पाइवेयर मसले की जांच की मांग की है. सरकार संसद नहीं चलाना चाहती और इस मुद्दे पर चर्चा नहीं चाहती है."

पेगासस मामले को लेकर राज्यसभा में हंगामा कर रहे विपक्षी सांसद हाथ में तख्तियां लेकर वेल में पहुंच गए. इस दौरान सांसदों ने "प्रधानमंत्री जासूसी करना बंद करो" और "प्रधानमंत्री जवाब दो" के नारे लगाए.

आपको बता दें कि पेगासस जासूसी कांड में लगातार नए खुलासे सामने आ रहे है. हल ही में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के निजी सहायक के रूप में काम कर चुके पूर्व भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी वीके जैन और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी भी पेगासस स्पाईवेयर के निशाने पर थे. द वायर ने 'जासूसी' मामले पर ताजा रिपोर्ट में इन नामों का खुलासा किया है. प्रवर्तन निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारी राजेश्वर सिंह के दो फोन नंबर और उनके परिवार की तीन महिलाओं के नंबर फ्रांस की नॉन प्रॉफिट फॉरबिडन द्वारा एक्सेस किए गए डाटाबेस पर मिले हैं.




RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it