Top
Begin typing your search...

पेगासस जासूसी कांड:बीजेपी अब अपनों से घिरी,सीएम नीतीश ने भी उठाई जाँच की मांग

सीएम ने कहा, 'बिल्‍कुल (जांच) होनी चाहिए. टेलीफोन टैपिंग की बात इतने समय से आ रही है, इस पर जरूर बात हो जानी चाहिए

पेगासस जासूसी कांड:बीजेपी अब अपनों से घिरी,सीएम नीतीश ने भी उठाई जाँच की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली:पेगासस जासूसी कांड पर केंद्र सरकार लगातार घिरती जा रही है.जहा एक तरफ संसद के मॉनसून सत्र में लगातार दो सप्ताह से सदन में घमाशान मचा हुआ है.वही समूचे विपक्ष ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.इसी बीच एनडीए सरकार में घटक दल जनता दल यूनाइटेड के नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी सवाल खड़े किये है.उन्होंने पेगासस जासूसी मामले की जांच की मांग की है.

वही जांच की मांग से संबंधित सवाल पर बिहार के सीएम ने कहा, 'बिल्‍कुल (जांच) होनी चाहिए. टेलीफोन टैपिंग की बात इतने समय से आ रही है, इस पर जरूर बात हो जानी चाहिए, चर्चा हो जानी चाहिए. हम तो पहले ही दिन पूछे. आजकल तो जानते नहीं कि ये सब चीज कई तरह से कौन कर लेगा, इस पर पूरे तौर पर से एक-एक बात को देखकर उचित कदम उठाना चाहिए मेरे हिसाब से, लेकिन क्‍या हुआ है क्‍या नहीं, यह पार्लियामेंट में कुछ लोग बोल रहे हैं और समाचार पत्र में आ रहे हैं, उसी को हम देखते हैं, जो भी कुछ है उस पर पूरी तरह से जांच होनी चाहिए. '

नीतीश ने आगे कहा, 'निश्चित रूप से इस पर मेरी समझ से जांच कर लेनी चाहिए ताकि जो भी सच्‍चाई हो, सामने आ जाए और कभी भी कोई किसी को डिस्‍टर्ब करने के लिए, परेशान करने के लिए इस तरह का काम न करे.'इस मामले में संसद में गतिरोध और ज्‍वाइंट पार्लियामेंट्री कमेटी की मांग पर नीतीश ने कहा कि यह संसद के अंदर की बात है लेकिन सरकार की ओर से जवाब दिया गया है. जब जवाब दिया गया तो उसके बाद क्‍या मामला है, उसकी हम लोगों को पूरे तौर पर जानकारी नहीं है. '

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी का कहना है कि कि अगर केंद्र सरकार पेगासस जासूसी प्रकरण पर कुछ सवालों के जवाब दे, तो संसद की कार्यवाही अगले मिनट चलने लगेगी, लेकिन वह इस मुद्दे पर चर्चा से भाग रही है क्योंकि उसके पास छिपाने के लिए बहुत कुछ है.

आपको बता दे कि है कि कुछ मीडिया ऑर्गेनाइजेशंस ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसमें कहा गया है कि कुछ राजनीतिक नेताओं, सरकारी अधिकारियों, मीडियकर्मी सहित अनेक भारतीयों की जासूसी करने के लिये इजराइली स्पाइवेयर पेगासस का कथित तौर पर इस्तेमाल किया गया था.वही केंद्र सरकार जासूसी कांड को सिरे से नकार चुकी है.







RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it