Top
Begin typing your search...

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा,बिना राम के अयोध्या नगरी की कल्पना करना भी मुमकिन नहीं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, बिना राम के अयोध्या नगरी की कल्पना करना भी मुमकिन नहीं है। राम के बिना अयोध्या है ही नहीं। अयोध्या तो वहीं है... जहां प्रभु श्री राम हैं। इसके बाद राष्ट्रपति ने हनुमानगढ़ी में पूजा अर्चना की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा,बिना राम के अयोध्या नगरी की कल्पना करना भी मुमकिन नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश के चार दिनों के दौरे पर है.दौरे के अंतिम दिन रविवार को महामहिम राष्ट्रपति भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या पहुंचे। राष्ट्रपति ने इस दौरान रामायण कॉन्क्लेव का शुभारंभ किया।ज्ञानी जैल सिंह के बाद 38 साल में पहली बार भारत के कोई राष्ट्रपति अयोध्या पहुंचे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, बिना राम के अयोध्या नगरी की कल्पना करना भी मुमकिन नहीं है। राम के बिना अयोध्या है ही नहीं। अयोध्या तो वहीं है... जहां प्रभु श्री राम हैं। इसके बाद राष्ट्रपति ने हनुमानगढ़ी में पूजा अर्चना की।

महामहिम परिवार के साथ रामलला का दर्शन करने पहुंचे हैं। यहां रामलला की आरती की। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी की रामलला की आरती की। मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास व सहायक पुजारी संतोष तिवारी ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पूजन कराया। वहीं, दोनों डिप्टी सीएम व पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी भी मौजूद रहे। परिसर में ही रुद्राक्ष के पौधे का रोपण किया। इसके साथ ही राम मंदिर का निर्माण कार्य देखा।

इस दौरान देश की प्रथम महिला सविता कोविंद, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे। रामायण कॉन्क्लेव के शुभारंभ समारोह में लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने गीतों की शानदार प्रस्तुति दी। पूरा माहौल भक्तिमय हो गया। कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों ने जय श्री राम का जय घोष किया।




RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it