Top
Begin typing your search...

BJP किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने की लखनऊ में पत्रकार वार्ता

सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के माध्यम से उत्तर प्रदेश के लगभग 2 करोड़ 50 लाख किसान लाभान्वित हो रहे है। इसके कारण किसानों का सम्मान बढा है..

BJP किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने की लखनऊ में पत्रकार वार्ता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ, उत्तर प्रदेश : आज 15 सितम्बर को दिन में 1 बजे स्मृति उपवन लखनऊ में एक विशाल किसान सम्मेलन आयोजित किया गया है। उक्त घोषणा करते जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने प्रदेश राज्य मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में की।

सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश में सरकार जो 2017 से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में काम कर रही है योगी सरकार ने दर्जनों ऐसे निर्णय लिए जिससे किसानों का व्यापक हित हुआ है। सिंह ने कहा कि देश की आजादी के बाद मोदी के नेतृत्व में चल रही केन्द्र सरकार तथा योगी के नेतृत्व में चल रही प्रदेश सरकार ने जितने निर्णय किसानों के हितों में लिए है उतने किसी सरकार ने आजतक नहीं लिए हैं।

किसानों के हितों में दर्जनों फैसलें लेने के कारण कृषि के क्षेत्र में बेहद विकास हुआ है। प्रदेश के किसान, सरकार द्वारा किये गए कार्यों के प्रति आभार ज्ञापित करने के लिए किसान सम्मेलन का आयोजन कर रहे है। इस सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के समस्त विधानसभा क्षेत्रों से पचास-पचास किसान आएगें व लगभग 20 हजार किसान उपस्थित होकर समस्त प्रदेश के किसानों की तरफ से मुख्यमंत्री के प्रति आभार ज्ञापित करेगें।


सिंह ने बताया कि अगस्त माह में हमने गन्ना बाहुल्य 95 विधानसभा क्षेत्रों में जाकर 298 स्थानों पर भाजपा किसान मोर्चा द्वारा किसान संवाद स्थापित किया गया था। जिसमें लगभग 60 हजार किसानों की उपस्थिति दर्ज हुई थी। किसान संवाद के निष्कर्षों को बताते हुए कामेश्वर सिंह ने

कहा कि किसानों का पूरा समर्थन भारतीय जनता पार्टी की सरकारों को है। देश के कुछ विरोधी दलों के लोग जो मुद्दों के आभाव में कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं कर पा रहे है वैसे ही लोग देश के किसानों को गुमराह करने का कुत्सित प्रयास कर रहे है। वह लोग अनर्गल दुष्प्रचार के माध्यम से हमारे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

सिंह ने बताया कि 17 सितम्बर 2021 को हमारे देश के प्रधानमंत्री तथा हम लोगों के लोकप्रिय नेता नरेन्द्र मोदी का 71वां जन्मदिवस है। इस दिन भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में सभी जिला केन्द्रों पर किसान-जवान-सम्मान दिवस के रूप में मनाएगा।

इस दिन भाजपा किसान मोर्चा प्रत्येक जिला केन्द्रों पर 71 किसान व जवानों को सम्मानित करेगा।

सिंह ने कहा कि किसानों की ऋण माफी, गन्ना मूल्य का ऐतिहासिक भुगतान व नए चीनी मिलों को लगाना तथा बंद चीनी मिलों को पुनः चलवाना, सिंचाई हेतु चल रहे ट्यूबलों का बिजली कनेक्शन न काटे जाने का आदेश देना, पराली (अवशेष फसल) जलाने पर दर्ज मुकदमें वापस लेना व इस कारण लगे अर्थदंड को माफ करना, पश्चिम उत्तर प्रदेश के डार्क जोन में बंद रहे ट्यूबल हेतु बिजली का कनेक्शन देना, 24 नई डिस्टलरियों सहित आठ बंद पड़ी डिस्टलरियों को चलाना तथा चीनी मिलों की क्षमता वृद्धि करना आदि ऐसे मुद्दे हैं जिसके कारण उत्तर प्रदेश के किसान योगी आदित्यनाथ को सम्मानित कर आभार ज्ञापित करना चाहता है।

सिंह ने बताया कि केन्द्रीय मंत्री मण्डल ने 2022-23 में लिए रवी फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य अभूतपूर्व वृद्धि की घोषणा कर दी है। जिसके अन्तर्गत गेहूं, सरसों, मसूर, चना, जौ और कुसुम के फूल के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में किसान की लागत के सापेक्ष 60 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक वृद्धि की गई है। गेहूं समर्थन मूल्य रूपया 2015/-(लागत पर लाभ 100 प्रतिशत), जौ का समर्थन मूल्य रूपया 1635/-(लागत पर लाभ 60 प्रतिशत), चना का समर्थन मूल्य रूपया 5230/-(लागत पर लाभ 74 प्रतिशत), दाल का समर्थन मूल्य रूपया 5500/-(लागत पर 79 प्रतिशत) व कैनोला और सरसों का समर्थन मूल्य रूपया 5050/- (लागत पर लाभ 100 प्रतिशत) रखा गया है।

किसान की लागत में मजदूरों की मजदूरी, बैल या मशीनों द्वारा जुताई, पट्टे पर ली जाने वाली जमीन का किराया, बीज, उर्वरक, सिंचाई शुल्क, उपकरणों व खेत निर्माण में लगने वाला खर्च, गतिशील पूंजी पर ब्याज, ट्यूबल चलाने पर डीजल/बिजली का खर्च, परिवार द्वारा किये जाने वाले श्रम का मूल्य व अन्य काम शामिल किए गए है। इस क्रान्तिकारी घोषणा के लिए हम सभी माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आभारी हैं।

सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के माध्यम से उत्तर प्रदेश के लगभग 2 करोड़ 50 लाख किसान लाभान्वित हो रहे है। इसके कारण किसानों का सम्मान बढा है। फसल बीमा योजना, आधुनिक मंडियों का निर्माण व मृदा हेल्थ कार्ड के माध्यम से किसानों की भूमि का परीक्षण कराना, किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसानों के हित में इसकी उपयोगिता बढाना, बायोगैस संयत्र की स्थापना करना, कृषि यंत्रों पर 50 प्रतिशत अनुदान देना, अटल भू-जल योजना का लाभ देना, बुन्देलखण्ड में खेत-तालाब योजना, लघु तथा सीमान्त किसानों मानधन योजना में रखना, ई-मंडियों का निर्माण करना आदि ऐसे सैंकडों निर्णय किसानों के हित में लेकर आदरणीय मोदी व योगी जी ने ऐतिहासिक कार्य किया है। हम इन्हीं सभी कार्यों हेतु 18 सितम्बर को योगी जो सम्मानित कर आभार ज्ञापित करेगें।

सौजन्य से -

- अतुल सिंह , प्रदेश मीडिया प्रभारी

किसान मोर्चा, भाजपा उत्तर प्रदेश

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it