Begin typing your search...

Alwar Gangrape Case: अलवर गैंगरेप केस में नया मोड़, पुलिस ने कहा- दुष्कर्म के नहीं मिले कोई सबूत, अलग एंगल से कर रहें जांच

राजस्थान के अलवर में नाबालिग दिव्यांग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में नया मोड़ आ गया है. डीआईजी सिविल राइट्स डॉ रवि ने कहा कि मेडिकल साक्ष्य, टेक्निकल मूल्यांकन या वीडियो के मूल्यांकन ने जांच को नई दिशा दी है. सभी पहलुओं को देखा जा रहा है.

Alwar Gangrape Case: अलवर गैंगरेप केस में नया मोड़, पुलिस ने कहा- दुष्कर्म के नहीं मिले कोई सबूत, अलग एंगल से कर रहें जांच
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) के अलवर (Alwar) में नाबालिग दिव्यांग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म (Gangrape) के मामले में नया मोड़ आ गया है. डीआईजी सिविल राइट्स डॉ रवि ने कहा कि मेडिकल साक्ष्य, टेक्निकल मूल्यांकन या वीडियो के मूल्यांकन ने जांच को नई दिशा दी है. सभी पहलुओं को देखा जा रहा है. अभी किसी निर्णय पर नहीं पहुंचा जा सकता लेकिन मामले में दुष्कर्म की संभावना कम है. उधर, इस मामले में अब तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक घटना का कोई सबूत नहीं मिला है. हमने उसके घर से फ्लाईओवर के शुरुआती बिंदु तक विभिन्न स्थानों पर कई सीसीटीवी की जांच की थी जिसमें मूकबधिर लड़की ठीक दिख रही है. डॉ रवि ने कहा "ऐसी संभावना है कि घटना फ्लाईओवर पर हुई होगी जहां उसने 5-7 मिनट बिताए थे. हम अलग-अलग एंगल से मामले की जांच कर रहे हैं. फिलहाल मैं किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकता. हालांकि, यौन हमले की संभावना कम है."

आरोप है कि 14 वर्षीय पीड़िता के साथ मंगलवार रात सामूहिक दुष्कर्म किया गया और उसे सड़क पर फेंक दिया गया. राहगीरों ने मामले की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. बाद में उसकी हालत बिगड़ने पर उसे जेके लोन अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया. पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में शार्प कट थे. जिसके चलते डॉक्टरों ने प्लास्टिक सर्जरी की है और उसे आईसीयू में रखा गया है.

आरोपियों की तलाश के लिए बुधवार को एसआईटी की टीम गठित की गई. कई अधिकारी और मंत्री उनके स्वास्थ्य संबंधी अपडेट लेने के लिए अस्पताल का दौरा कर रहे हैं. इस घटना ने दिल्ली में 2012 के निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले की याद दिला दी. हालांकि अब जांच टीम के नए खुलासे ने पूरे मामले पर सवालिया निशाना खड़ा कर दिया है.

Special Coverage Desk Editor
Next Story
Share it