Begin typing your search...

11-11 लाख रुपये में सलमान और शाहरुख बचा है सिर्फ सुल्तान, दो साल के बाद लौटी रौनक बकरीद पर

11-11 लाख रुपये में सलमान और शाहरुख बचा है सिर्फ सुल्तान, दो साल के बाद लौटी रौनक बकरीद पर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जामा मस्जिद के मीना बाजार में लगने वाली बकरा मंडी में फिर से चहलपहल बढ़ गई है। ईद-उल-अजहा (बकरीद) को अब चंद दिन शेष हैं। ऐसे में कोरोना महामारी के दो साल बाद बाजार में खूब चहलपहल देखने को मिल रही है। मुस्लिम सामाज के लोग यहां दूर-दूर से बकरों की खरीदारी करने पहुंच रहे हैं। खरीदारों की भीड़ देख बकरा व्यापारी भी खासा उत्साहित दिखे।

व्यापारियों के मुताबिक बाजार में रौनक लौटते ही 'सलमान और शाहरुख' नाम के बकरे 11 लाख रुपये में बिके। इसी तरह सुल्तान, चिकारा और कई अन्य नामों के बकरे भी उपलब्ध हैं। यहां तोतापरी, मेवाती, अजमेरी, बरबरा, पंजाबी अमृतसरी, दोगला, बामडोले और देसी बकरों की कई नस्लें हैं। बाजार के इलाके और आसपास लगी इस मंडी में हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब समेत कई राज्यों के बकरा व्यापारी आए हैं।

हां इस बार तोतापरी और पंजाबी अमृतसरी नस्ल के बकरे की सबसे अधिक मांग है। यह तोतापरी बकरे अधिकतर मेवात से आए हैं। इनकी कीमत 60 हजार से लेकर सात लाख रुपये तक है। व्यापारियों ने कहा कि महामारी की आशंका को देखकर इस बार बड़े बकरे नहीं लाए हैं, लेकिन एक से दो लाख रुपये तक के बकरे यहां खूब बिक रहे हैं।

बकरा व्यापारी रईस ने बताया कि वह तर्कमान गेट में रहते हैं और 45 साल से यहां बकरीद पर व्यापार करते हैं। उन्होंने कहा कि इस बार व्यापार अच्छा है। लोग खुलकर खरीदारी कर रहे हैं। बाजार में पंजाबी अमृतसरी नस्ल के बकरे की कीमत एक लाख रुपये से शुरू है।

पंजाबी अमृतसरी सुल्तान की कीमत एक लाख 80 हजार रुपये है। पंजाब से आए बकरा व्यापारी कुलदीप सिंह ने बताया कि वह इस बाजार का दो साल से इंतजार कर रहे थे। काफी बकरे बिक गए हैं और बकरे मंगवाए हैं।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it