Begin typing your search...

किसान नेता राकेश टिकैत बोले- नहीं मिला कृषि मंत्री का न्योता, कानून रद्द होने से पहले नहीं हटेंगे किसान

भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने कहा कि अबतक कृषि मंत्री की तरफ से हमें बातचीत का कोई न्योता नहीं मिला है.

किसान नेता राकेश टिकैत बोले- नहीं मिला कृषि मंत्री का न्योता, कानून रद्द होने से पहले नहीं हटेंगे किसान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) का आज 27वां दिन है. कल से किसान बारी-बारी भूख हड़ताल का ऐलान कर चुके हैं जो आज भी जारी रहेगी. आज किसानों की सिंघु बॉर्डर पर मीटिंग भी होनी है.

भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने कहा कि अबतक कृषि मंत्री की तरफ से हमें बातचीत का कोई न्योता नहीं मिला है. किसानों ने तय किया है कि कानूनों के वापसी होने तक वे नहीं जाएंगे. सरकार को हमारे पास आना चाहिए.

अहंकार छोड़े केंद्र सरकार – राघव चड्डा

राघव चड्डा बोले कि मोदी सरकार अहंकार दिखा रही है. किसानों की मांग जायज हैं केंद्र को जिद छोड़कर उनकी मांग मान लेनी चाहिए. तीन कृषि कानून वापस होने चाहिए.

हरियाणा के कौन से बॉर्डर खुले

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (Delhi NCR Traffic Updates) के मुताबिक हरियाणा के लिए झरोदा (केवल सिंगल रोड), दौराला, कापसहेड़ा, बडुसराय, राजोकरी एनएच 8, बिजवासन/बजघेरा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर खुले हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it