Top
Begin typing your search...

ओम प्रकाश राजभर सीएम केजरीवाल से करेंगे सियासी मुलाकात...जानिए क्या है मायने

ओम प्रकाश राजभर सीएम केजरीवाल से करेंगे सियासी मुलाकात...जानिए क्या है मायने

ओम प्रकाश राजभर सीएम केजरीवाल से करेंगे सियासी मुलाकात...जानिए क्या है मायने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने सोमवार को कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से उत्त्तर प्रदेश में गठबंधन को लेकर 17 जुलाई को दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने जाएंगे.उन्होंने कहा उत्त्तर प्रदेश में भागीदारी संकल्प मोर्चा के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत होगी. मुलाकात के दौरान आप सांसद संजय सिंह भी मौजूद रहेंगे।

ओम प्रकाश राजभर ने बताया कि उनकी कुछ दिन पहले ही आप सांसद संजय सिंह से मुलाकात हुई थी, इसके बाद उन्होंने स्वयं पहल कर केजरीवाल से फोन पर बातचीत की. उन्होंने दावा किया कि समाजवादी पार्टी से गठबंधन को लेकर भी प्रारंभिक स्तर पर बातचीत हुई है. मोर्चा के घटक दल जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा की पिछले दिनों सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात हुई थी.बातचीत के परिणाम को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अभी प्रारंभिक स्तर की बातचीत हुई है।

वही ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा पर तंज कस्ते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को कांग्रेस मुक्त करने की घोषणा की थी, लेकिन आज उनकी सरकार ही कांग्रेस युक्त हो गई है। भागीदारी संकल्प मोर्चा, राजभर के नेतृत्व वाली छोटी पार्टियों का मोर्चा है. एआईएमआईएम ने हाल में घोषणा की थी कि वह 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मोर्चा के साथ गठबंधन में 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री अनिल राजभर के बयान करने के आरोप पर भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा बीजेपी झूठ बोलती है.अनिल राजभर ने कहा था कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस, ओम प्रकाश राजभर और असदुद्दीन ओवैसी में कोई फर्क नहीं है.इनमें से जिसे जब मौका मिला, उन्होंने सैयद सलार मसूद गाजी को सम्मानित कर राष्ट्रवीर महाराजा सुहेलदेव का अपमान किया है।







RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it