Top
Begin typing your search...

पीएम मोदी ने संसद नहीं चलने को लोकतंत्र और संविधान का अपमान बताया

बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में हो रहे हंगामें पर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की

पीएम मोदी ने संसद नहीं चलने को लोकतंत्र और संविधान का अपमान बताया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली :पेगासस जासूसी कांड को लेकर संसद के मॉनसून सत्र में लगातार घमाशान मचा हुआ है.समूचा विपक्ष पिछले दो सप्ताह से फ़ोन टेपिंग को लेकर जाँच की मांग कर रहा है.वही संसद में पेगासस कांड पर बहस को लेकर सदन की कार्यवाही बाधित हो रही है.ऐसे में सरकार और विपक्ष के कारण सदन की कार्यवाही हंगामें की भेंट चढ़ता जा रहा है.सदन की कार्यवाही बाधित होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस और विपक्ष पर निशान साधा है.पीएम मोदी ने संसद नहीं चलने को लोकतंत्र और संविधान का अपमान बताया है.

संसद सत्र के दौरान हर मंगलवार को होने वाली बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में हो रहे हंगामें पर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की.प्रधानमंत्री ने कहा कि आम जनता सांसदों को ज़रूरी मुद्दे उठाने के लिए संसद में भेजती है लेकिन मानसून सत्र के दौरान विपक्ष अपनी भूमिका का निर्वाह नहीं कर रहा है. पीएम ने आरोप लगाया कि संसद को बाधित करके विपक्ष लोकतंत्र, संविधान और जनता का अपमान कर रहा है.

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने हंगामें के बीच संसद में पारित हो रहे बिलों को लेकर किए गए एक ट्वीट में संसद को पापड़ी चाट बताया था.संसदीय दल की बैठक में पीएम ने डेरेक ओ ब्रायन का नाम लिए बिना कड़ी नाराज़गी दिखाई. पीएम ने कहा कि ऐसी टिप्पणियों से संसद की गरिमा कम होती है और सांसदों का अपमान होता है.



Rajesh Kumar
Next Story
Share it