Top
Begin typing your search...

कांग्रेस पार्टी की आलोचना करना पड़ा भारी, पार्टी ने संजय झा को प्रवक्‍ता पद से हटाया

संजय झा ने एक न्यूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कांग्रेस पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया था.

कांग्रेस पार्टी की आलोचना करना पड़ा भारी, पार्टी ने संजय झा को प्रवक्‍ता पद से हटाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कांग्रेस पार्टी ने संजय झा को तत्काल प्रभाव से AICC प्रवक्ता के पद से हटा दिया है. इस बाबत जारी लेटर में कहा गया है कि ये निर्णय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लिया है. साथ ही पार्टी ने अपने नेशनल मीडिया पैनलिस्टों की सूची में अभिषेक दत्त और साधना भारती को शामिल किया है.

हाल ही में संजय झा ने एक न्यूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कांग्रेस पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया था. उन्होंने कहा था कि पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र का अभाव है.



वहीं, जारी लेटर में कहा गया, 'कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अभिषेक दत्त और साधना भारती को कांग्रेस के नेशनल मीडिया पैनलिस्ट के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दी है. साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष ने संजय झा को कांग्रेस प्रवक्ता के पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया है.'

बता दें कि मई में संजय झा कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी थी. संजय झा की ओर से ट्वीट कर लिखा गया था कि वो कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं. उनमें कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं पाए गए थे, ऐसे में वह अगले 10 से 12 दिनों तक होम क्वारनटीन में ही रहेंगे.

कांग्रेस की कार्यशैली पर उठाया सवाल

ज्ञात हो कि संजय झा ने हाल में एक न्यूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कांग्रेस पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया था। उन्होंने यह भी कहा था कि पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र का अभाव है। इतना ही नहीं, लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारतीय सैनिकों की मौत पर उन्होंने बुधवार को भी एक ट्वीट में लिखा कि यह समय चीन के खतरनाक अतिक्रमण के खिलाफ भारत में बिल्कुल परिपक्व राजनीतिक एकजुटता का है। मोदीजी ने हमारी कांग्रेस/यूपीए सरकार के बारे में अतीत में कई बार अपमानजनक बातें कहीं, जिसकी मुझे बिल्कुल परवाह नहीं है। हमें इससे ऊपर उठना है। हमें बदलना होगा। हमें एकजुट होना है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it