Top
Begin typing your search...

वीर सावरकर पर मचे विवाद के बीच स्वामी चक्रपाणि बोले- सुना है समलैंगिक हैं...

वीर सावरकर पर मचे विवाद के बीच स्वामी चक्रपाणि बोले- सुना है समलैंगिक हैं...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश कांग्रेस के सेवालदल की पत्रिका जारी होने के बाद विवादों में आ गया है. इस पत्रिका में सवारकर और गोडसे के रिश्तों पर एक लेख लिखा गया है जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल कांग्रेस के बुकलेट में दावा किया गया है कि सावरकर और गोडसे के बीच शारीरिक संबंध थे।

दरअसल मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आयोजित कांग्रेस के सेवा दल प्रशिक्षण शिविर में विनायक दामोदर सावरकर और नाथूराम गोडसे से संबंधित विवादित साहित्य बांटा गया. जो बुकलेट बांटा गया उसका नाम था 'वीर सावरकर कितने वीर'. इसमें कांग्रेस ने सावरकर की जिंदगी से जुड़ी तमाम घटनाओं का जिक्र किया था. इसमें इस बात का जिक्र है कि वीर सावरकर ब्रह्मचर्य ग्रहण करने से पहले नाथूराम गोडसे से होमोसेक्‍सुअल संबंध थे. इसके अलावा भी कई ऐसी बात है जिसको लेकर बीजेपी ने घोर आपत्ति जताई है.

अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में विवादित टिप्पणी की है. दरअसल, कांग्रेस सेवादल की किताब में नाथूराम गोडसे और सावरकर के बीच समलैंगिक संबंध का दावा किया गया है. इस पर स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि ये सावरकर के खिलाफ हास्यास्पद आरोप हैं. हमने भी सुना है कि राहुल गांधी समलैंगिक हैं।

'वीर सावरकर कितने वीर' में कई किताबों के हवाले से तमाम तरह के दावे किए गए हैं. डॉमिनिक लैपिएर और लैरी कॉलिन की किताब 'फ्रीडम एट मिडनाइट' का जिक्र करते हुए इसमें लिखा है, 'ब्रह्मचर्य धारण करने से पहले नाथूराम गोडसे के एक ही शारीरिक संबंध का ब्यौरा मिलता है. यह समलैंगिक संबंध थे. उनका पार्टनर था उनका राजनैतिक गुरु वीर सावरकर.'

सावरकर पर मचे घमासान पर महाराष्ट्र में कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना ने भी पार्टी को आड़े हाथों लिया. शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, 'वीर सावरकर एक महान व्यक्तित्व थे और हमेशा रहेंगे. एक वर्ग उनके खिलाफ बोलता रहता है जो उनके दिमाग की गंदगी को दिखाता है कि कितना हद तक वे गिर सकते हैं.'


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it