Begin typing your search...

पंजाब में फिर घिरी मान सरकार, IMA ने मांगा इस्तीफा

उधर कांग्रेस अध्यक्ष से मिलकर भावुक हुआ डॉ.राज बहादुर

पंजाब में फिर घिरी मान सरकार, IMA ने मांगा इस्तीफा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पंजाब में बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति को स्वास्थ्य मंत्री द्वारा गंदे बिस्तर पर लिटाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस घटना के बाद आधी रात को कुलपति डॉ. राज बहादुर ने अपना इस्तीफा दे दिया था जिसको लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भगंवत मान सरकार के मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। आईएमए ने इस मामले में बिना शर्त माफी और स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग की है।

आईएमए ने पंजाब के मुख्यमंत्री से इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करने और मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील की है। आईएमए ने एक बयान में कहा, "आईएमए पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री की अपमानजनक कार्रवाई की कड़ी निंदा करता है, जिन्होंने 29 जुलाई को बीएफयूएचएस के कुलपति डॉ. राज बहादुर को अपमानित किया। यह न केवल कुलपति का अपमान है, बल्कि इससे पूरे भारत में पूरे चिकित्सा बिरादरी का अपमान हुआ है।"

वहीं, इस मामले पर सियासत गरमाई हुई है। विपक्षी दल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा ने शनिवार को बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के वीसी के पद से इस्तीफा देने वाले डॉ. राज बहादुर से मुलाकात की। इस दौरान डॉ. बहादुर भावुक हो गए। कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर कहा कि पूरा पंजाब उनके साथ खड़ा है।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा 29 जुलाई को फरीदकोट अस्पताल पहुंचे थे, जहां स्किन वार्ड में फटे और जले हुए गद्दों को देख मंत्री आगबबूला हो गए और उन्होंने वाइस चांसलर को उन गद्दों पर लेटने को कहा था। सामने आए वीडियो में कुलपति स्वास्थ्य मंत्री को समझाते हुए दिखाई दे रहे हैं कि वह इन सुविधाओं के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, जिस पर आप नेता ने कहा कि सब कुछ उनके (वीसी) हाथ में है। इसके बाद कुलपति ने कथित तौर पर सीएम भगवंत मान से कहा कि वह ऐसे माहौल में काम नहीं कर सकते और उन्हें सेवाओं से मुक्त कर दिया जाए।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it