Begin typing your search...

पंजाब पुलिस का बड़ा खुलासा, ये बात मान जाती सीबीआई तो बच सकते थे मूसेवाला

पंजाब पुलिस का बड़ा खुलासा,  ये बात मान जाती सीबीआई तो बच सकते थे मूसेवाला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पंजाब के मशहूर सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड पर बड़ा खुलासा हुआ है. मूसेवाला की हत्या से 10 दिन पहले ही गैंगस्टर गोल्डी बरार के खिलाफ बड़ा एक्शन लेने की तैयारी थी.

पंजाब पुलिस गोल्डी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करना चाहती थी. इस सिलसिले में उसकी तरफ से सीबीआई को एक प्रस्ताव भी दिया गया था. जोर देकर कहा गया था कि गोल्डी बरार के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया जाए. अगर समय रहते ऐसा कर दिया जाता तो सिंगर सिद्धू मूसेवाला की जान बच सकती थी.

जो जानकारी मिली है कि उसके मुताबिक पंजाब पुलिस ने 19 मई को सीबीआई को एक प्रस्ताव भेजा था. मांग की गई थी कि गैंगस्टर गोल्डी बरार के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जाए.

पंजाब पुलिस के पास पहले से ही बरार के खिलाफ तमाम सबूत थे, उसके कारनामों सारा कच्चा चिट्ठा मौजूद था, ऐसे में तभी उसके खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जा सकती थी. लेकिन किन कारणों से सीबीआई ने तब गोल्डी बरार के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी नहीं किया, ये अभी तक स्पष्ट नहीं है.

गोल्डी बरार की बात करें तो सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में वो मुख्य आरोपी माना जा रहा है. लॉरेंस बिश्नोई के साथ साजिश रच उसने ही इस वारदात को अंजाम दिलवाया है. साल 2017 में स्टूडेंट वीजा पर गोल्डी कनाडा चला गया था. वो पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब का रहने वाला है.

लंबे समय से बिश्नोई की गैंग का वो एक सक्रिय सदस्य रहा है. पंजाब पुलिस ने उसके खिलाफ पहले से दो FIR दर्ज कर रखी थीं. उन्हीं के आधार पर रेड कॉर्नर नोटिस जारी होना था. लेकिन दस दिन बीत गए और मूसेवाला की बीच सड़क पर बेरहमी से हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस केस में अबतक 9 गिरफ्तारी कर ली हैं.

लेकिन इनमें से कोई भी ऐसा नहीं है जो उस हत्याकांड में, मतलब गोलियां चलाने में शामिल रहा हो

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it