Begin typing your search...

भीलवाड़ा में महिलाओं के साथ क्रूरता, पति के गंदे जूते से पीना पड़ता है पानी

राजस्थान के भीलवाड़ा में एक देवी का मंदिर ऐसा है, जहां अंधविश्वास के नाम पर देवी स्वरूपा महिलाओं के साथ ही अत्याचार किया जाता है।

भीलवाड़ा में महिलाओं के साथ क्रूरता, पति के गंदे जूते से पीना पड़ता है पानी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

राजस्थान के भीलवाड़ा में एक देवी का मंदिर ऐसा है, जहां अंधविश्वास के नाम पर देवी स्वरूपा महिलाओं के साथ ही अत्याचार किया जाता है। जी हां बंक्याराणी माता मंदिर में भूत-प्रेत का शक होने पर महिलाओं को अपने पति के जूते से पानी पीना पड़ता है। यहां झाड़-फूंक के नाम पर महिलाओं के साथ क्रूरता की जाती है।

अंधविश्वास के नाम पर मंदिर के पुजारी से लेकर झाड़-फूंक करने वाले तांत्रिक तक महिलाओं के साथ शर्मनाक हरकत करते हैं। महिलाओं के साथ मार-पीट तक की जाती है। इतना ही नहीं यहां महिलाओं को मर्दों के गंदे जूते सिर पर रखकर कई किलोमीटर तक चलने के लिए मजबूर किया जाता है।

इस दौरान महिलाओं को गांवों की गलियों से सिर पर जूता रखकर और मुंह में दबाकर जाना पड़ता है। बच्चे उन्हें देखकर हंसते हैं, लेकिन घरवालों के दवाब में उन्हें ऐसा करना पड़ता है। उसके बाद पति के इन्हीं जूतों से महिलाओं को पानी पिलाया जाता है। भूत-प्रेत के नाम पर ये अंधविश्वास का खेल सालों से जारी है। लोगों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। महिलाओं के प्रति इस तरह के व्यवहार से कहीं न कहीं महिलाओं में मानसिक तनाव पैदा हो जाता है और वो भी स्वयं को भूत प्रेत से बाधित समझ बैठती हैं।

Sakshi
Next Story
Share it